Breaking News

बड़ी खबर : नही बाज आ रहा है चीन, लिपुलेख पास पर चीन ने तैनात किये 1000 और सैनिक, ड्रैगन ने बनाया मिसाइल प्लेटफार्म, भारत ने भी उठाया.....

चीन ने लिपुलेख पास पर पहले एक हजार से अधिक जवानों की तैनाती की थी जिसे अब बढ़ाकर 2 हजार कर दिया गया है। इतना ही नहीं, सेटेलाइट की तस्वीरों से यह भी खुलासा हुआ है कि चीन यहां 100 किमी. के दायरे में पक्के निर्माण भी करा रहा है।

 यहां सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल के लिए प्लेटफार्म भी चीन ने बना लिया है। यह वह जगह है, जहां भारत, नेपाल और चीन की सीमाएं मिलती हैं। इसी जगह को अपने नक्शे में दिखाकर नेपाल अब दुनिया का समर्थन हासिल करने की कोशिश करने में लगा है। लिपुलेख में चीनी सेना की गतिविधियां बढ़ने पर नेपाल से चीन की ‘दोस्ती’ का राज खुलने लगा है।
पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारत के इलाके उत्तराखंड के लिपुलेख पास पर एलएसी के पार पिछले महीने एक बटालियन जवानों की तैनाती की थी। इस इलाके में तेजी से गतिविधियां बढ़ा रहे चीन ने अब फिर एक हजार सैनिकों की संख्या बढ़ाई है। इस तरह अब चीनी सेना 2000 सैनिक तैनात कर चुकी है। यही वजह है कि एलएसी के पार लिपुलेख इलाके में चीनी सैनिक चहलकदमी करते देखे गए हैं। 

यह लिपुलेख पास वही इलाका है, जहां से भारत ने मानसरोवर यात्रा के लिए नया रूट बनाया है। लिपुलेख पास के जरिए एलएसी के आर-पार रहने वाले भारत और चीन के आदिवासी जून से अक्टूबर के दौरान व्यापार के सिलसिले में आवाजाही करते हैं। यह इलाका पिछले दिनों तब चर्चा में आया था, जब नेपाल ने यहां भारत की बनाई 80 किलोमीटर की सड़क पर ऐतराज जताया था।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close