Breaking News

खुल गया 11 लोगों की मौत का राज...बेटी ने ही घरवालों को जहर का इंजेक्शन देकर मारा, परिवार का इकलौता शख्स बच गया था इस वजह से.....

 एक अधिकारी ने कहा कि परिवार का एक सदस्य देचु इलाके के लोडता गांव में उस झोपड़ी के बाहर जिंदा मिला जहां ये लोग रहते थे। वहीं 11 लोगों की मौत को लेकर शुरुआती जांच में जो जानकारी सामने आई है उसमें अशंका जताई जा रही है कि 38 साल की लक्ष्मी ने सबको जहर का इंजेक्शन देकर मार डाला। लक्ष्मी बुधाराम (75) की बेटी थी। पुलिस को शव के पास से जहर की शीशियां और इंजेक्शन मिले हैं। शुरुआती जांच में पुलिस ने पाया कि मरने वाले सभी लोगों को चूहे मारने की दवा का इंजेक्शन दिया गया है। इतना ही नहीं मौका-ए-वारदात से अल्प्राजोलम टेबलेट भी मिले जोकि नींद की दवाई के तौर पर इस्तेमाल होते हैं।



लक्ष्मी ने ही परिवार के सभी सदस्यों को इंजेक्शन दिया पुलिस इसलिए शक कर रही क्योंकि वह इंजेक्शन देना जानती थी। उसने पाकिस्तान से नर्सिंग का कोर्स किया था। वहीं शक की एक वजह यह भी है कि मरने वाले सभी 10 सदस्यों के हाथ में सूई लगाई गई है जबकि लक्ष्मी के पैर में, इससे लगता है कि लक्ष्मी ने पहले परिवार के सदस्यों को हाथ में इंजेक्शन दिया और बाद में अपने पैर में इंजेक्शन लगा लिया। बताया जा रहा है कि 38 साल की लक्ष्मी की शादी जोधपुर में ही हुई थी, मगर वह ससुराल नहीं जाती थी।



प्रारंभिक जांच में पता चला है कि पहले परिवार वालों के खाने में नींद की गोलियां डाली गई होंगी और फिर सभी के हाथ में जहर का इंजेक्शन लगाया गया होगा। परिवार का बारहवां सदस्य इसलिए बच गया क्योंकि वह खाना खाकर खेत में चला गया और वही सो गया था। सुबह जब वह घर लौटा तो सबको मृत पाया।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close