Breaking News

जोधपुर में एक ही परिवार के 11 पाकिस्तानी शरणार्थियों की मौत, सिर्फ बचा एक शख्स, बचने की वजह जानकर रह जाओगे दंग

 पाकिस्तान से विस्थापित थे जो अचलावता गांव में खेती का काम करके अपना जीवन चला रहे थे। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी घटना स्थल पहुंच चुके हैं और जाँच में जुटे हुए हैं। एक साथ 11 लोगों के शव मिलने के बाद क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। स्थानीय लोग इस बारे में कुछ भी कहने को फ़िलहाल तैयार नहीं हो रहे हैं। देचू थाने के थानाधिकारी राजू राम का कहना है कि मृतकों में 7 महिला हैं और 4 पुरुष हैं।

पुलिस अधिकारी आस पास के लोगों से पूछताछ कर रही है। पाकिस्तान की सीमा से लगे राजस्थान के गांवों में पड़ोसी देश से कई बड़ी संख्या में शरणार्थी आकर यहां शरण लिए हुए हैं। इस बात का अंदेशा लगाया जा रहा है कि इन सभी की मौत जहरीले इंजेक्शन से हुई हैं। इस परिवार एक महिला पेशे से नर्स है जो अपने भाई को राखी बांधने आई हुई थी। उसे लेकर ही कयास लगाए जा रहे है कि हो सकता है कि उसने ही पहले परिवार के दस लोगों को इंजेक्शन लगाया हो फिर खुद भी लगा लिया हो। इस परिवार में 12 लोग थे जिनमे से 11 की मौत हो चुकी हैं।
परिवार के 12वें सदस्य का कहना है कि वो खेत में नलकूप की ओर चला गया था जिसके बाद वो रात में वहीं सो गया था जब वह सुबह आया तो उसने देखा कि पूरे परिवार की मौत हो चुकी थी। फ़िलहाल पुलिस ने घटना स्थल को सील कर दिया है और एफएसएल टीम पहुंचने का इंतज़ार कर रही है। जिससे साक्ष्य जुटाकर इस मामले का खुलासा हो सके। पुलिस को परिवार के उस सदस्य पर शक है जो जीवित मिला है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close