Breaking News

बिकारु कांड में अब होगा खुलासा, 20 से अधिक कॉल रिकॉर्डिंग बरामद, वायरल ऑडियो की होगी जांच, सबूतों का आधार बनाएगी पुलिस

पुलिस ने इसके लिए करीब एक दर्जन कॉल रिकार्डिंग्स को जांच के लिए फोरेंसिक लैब लखनऊ भेजा गया है। इन रिकार्डिंग्स में जिनकी आवाजें हैं उसकी पुष्टि होने के बाद पुलिस इसे सबूतों में शामिल करेगी। बताया जा रहा है कॉल रिकॉर्डिंग्स की रिपोर्ट दस दिन में एसआईटी और वरिष्ठ अधिकारियों को सौंप दी जाएगी।

गौरतलब है कि बिकरू गांव कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद सोशल साइट्स पर कॉल वायरल होने का सिलसिला शुरू हो गया। सबसे पहले एनकाउंटर में मारे गए प्रेम प्रकाश पाण्डेय की बहू मनु पाण्डेय की कॉल रिकॉर्डिंग्स वायरल हुई। उसके बाद कुछ विकास दुबे के आडियो-वीडियो रिकार्डिंग्स सामने आई। साथ ही पूर्व एसओ विनय तिवारी उसके बाद शहीद सीओ देवेन्द्र मिश्रा की कॉल्स वायरल हुई थी। 
बताया जा रहा है एफएसएल लैब के पास ऐसे अत्याधुनिक सॉफ्टवेयर हैं जिससे कॉल में जो आवाज इस्तेमाल की गई है उसकी पहचान कराई जा सकती है। पुलिस को इसके लिए रिकॉर्डिंग के साथ सैम्पल वाइस देनी होगी। सूचना है कि लैब ने वाइज टेस्ट रिपोर्ट के लिए दस दिन का समय मांगा है।
ज्ञात हो कि बिकरू गांव कांड की जांच कर रही एसआईटी के समक्ष पूर्व डीआईजी अनंत देव तिवारी ने अपने बयान दर्ज कराए। आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद से वह सवालों के घेरे में थे। इस घटना के बाद अनंतदेव पर गम्भीर आरोप लगे थे, इसी के चलते एसटीएफ से उनका तबादला भी कर दिया गया था। उन्होंने बयान के साथ ही एसआईटी को कुछ दस्तावेजी साक्ष्य भी उपलब्ध कराए हैं। 

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close