Breaking News

शादी में दुल्हे को मिलने वाला था 4 करोड़ का दहेज लेकिन उसने उसकी तरफ देखा भी नही, फिर कर दी ऐसी डिमांड जिसने भी सुना रह गया दंग

यह मामला हरियाणा का है जहां पर हाल ही में एक ऐसी शादी हुई थी जिसकी तारीफ लोग करते हुए नहीं थक रहे हैं। खासतौर से दूल्हे ने शादी से पहले जो मांग रखी उसके संबंध में कहा जा रहा है कि अब समाज को ऐसे मामलों पर गंभीरता से सोच विचार करना चाहिए। अगर आप इस शादी के बारे में सुनेंगे तो आप भी काफी हैरान हो जाएंगे, क्योंकि यह शादी मात्र ₹1 रुपये में पूरी हो गई है।

आप सभी लोग बिलकुल सही सुन रहे हैं, यह शादी मात्र ₹1 रुपये में पूरी हो गई है क्योंकि इसमें  किसी प्रकार की कोई फिजूलखर्ची नही हुई थी। बस दूल्हा अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ बारात लेकर आया था और उसने बिना किसी दहेज या नगदी के विवाह किया।

दरअसल, यह शादी हरियाणा के सिरसा स्थित आदमपुर इलाके में हुई थी जो कि पूरे समाज के लिए एक नया संदेशा छोड़ गई है। दूल्हा बलेंद्र ने शादी से पहले ही अपनी शर्त रख दी थी कि वह ना तो दहेज लेगा और ना ही किसी किस्म की फिजूलखर्ची को बढ़ावा देगा और ना ही फालतू की रस्मों में खर्च करेगा। इतना ही नहीं बल्कि दूल्हे ने यहां तक कि कहा कि उन्होंने अपनी लड़की दे दी यही बहुत है इस पर दुल्हन कांता और उनके परिजन सहमत हो गए थे।

पहले दुल्हन के परिजन दूल्हे को 4 करोड रुपए दहेज के रूप में देने वाले थे परंतु जब दूल्हा बलेंद्र अपने कुछ गिने-चुने रिश्तेदारों के साथ बारात लेकर आया तो उन्होंने भेंट के रूप में ₹1 और नारियल स्वीकार किया।

शादी पर स्थानीय लोगों ने कहा है कि यदि समाज में हर परिवार ऐसी पहल करे तो ना सिर्फ हालात में सुधार आएगा बल्कि बेटियों की शिक्षा पर भी अधिक ध्यान दिया जा सकता है।

खबरों के अनुसार ऐसा बताया जाता है कि दूल्हा चूलीखुर्द गांव का रहने वाला है और इनके पिताजी का नाम छोटू राम खोखर है और माताजी का नाम संतोष है। वहीं भजन लाल की पुत्री कांता खैरमपुर से है दूल्हा-दुल्हन उच्च शिक्षित है। बलेंद्र ने अपने गांव में भी शादी को लेकर किसी प्रकार का दिखावा नहीं किया।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close