Breaking News

5वीं पास ने बना दिया मोबाइल मकान, बड़े इंजीनियर भी रह गए भौचक्के, किया कुछ ऐसा काम जानकर रह जाओगे दंग....

जी हां, हम बात कर रहे चेन्नई के एक मकान बनाने वाले मिस्त्री सहुल हमीद की जिसने घूमने फिरने वाला मोबाइल घर बनाकर बड़े बड़े इंजीनियरों को भी हैरानी में डाल दिया है। बता दे कि किसी दक्ष सिविल इंजीनियर की तरह सहुल ने बिना किसी पेशेवर ट्रेनिंग के यह कर दिखाया है। दरअसल कुछ साल पहले सहुल पैसे कमाने सऊदी अरब चले गए थे। वही पर उसने यह घर बनाने की अनोखी तकनीक सीखी थी।


20 साल बाद जब वह घर लौटे तो उन्होंने परिवार के लिए एक ऐसा घर बनाने की योजना बनाई। हालांकि घर वालों ने शुरू में उनका यह विचार काल्पनिक कहकर नकार दिया था। क्योंकि इसमें काफी लाखों रूपए की लागत आती है। सबको यही डर था कि कहीं घर कमजोर निकला तो लाखों रूपए डूब जाएंगे। और वे सब बेघर हो जाएंगे। मगर सहुल को खुद पर यकीन था। सो उन्होंने 25 लाख की लागत से यह सपनो का आशिया बनाकर ही दम लिया।

सहुल हमीद ने राफ्ट फाउंडेशन तकनीक का इस्तेमाल किया है। इसके लिए 90 सेंटीमीटर की मोटाई और  1,080 स्क्वेयर फुट के स्लैब से घर की नींव डाली जाती है। वही स्लैब के नीचे लोहे के रॉलर रखे जाते हैं। इसी वजह से घर को कहीं भी पहियों पर लाया ले जाया जा सकता है। ग्राउंड फ्लोर पर तीन बेडरूम और फर्स्ट फ्लोर पर दो बेडरूम वाला यह घर आसपास के सिविल इंजीनियरों के लिए कौतुहल का विषय है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close