Breaking News

दुनिया भर के कई रहस्य समेटे है केरल में तिरुवनंतपुरम का प्रसिद्ध पद्मनाभ मंदिर, गेट नंबर 7 जिसने भी खोलने की कोशिश उसका हुआ ऐसा हाल जानकर...

सबसे पहले इस स्थान से विष्णु भगवान की प्रतिमा प्राप्त हुई थी जिसके बाद उसी स्थान पर इस मंदिर का निर्माण किया गया है। तब से आज तक पद्मनाभ मंदिर कई रहस्यों को लिए हुए है। रहस्यों के साथ बड़ी बात यह है कि इस मंदिर में बेशुमार धन छिपा हुआ है। पद्मनाभ मंदिर का रहस्य इस मंदिर का छठा तहखाना है।

इस मंदिर की देखभाल त्रावणकोर का राज परिवार करता है जो आज भी इस पद्मनाभ स्वामी के छठे तहखाने को खोलने की अनुमति किसी को नहीं दे रहा है। इस राज परिवार को डर है कि यदि इस मंदिर का छठा तहखाना खुल गया तो बहुत बड़ा अनर्थ हो जाएगा। कहा जाता है कि आज से 140 साल पहले छठे तहखाने को खोलने की कोशिश की गई थी। तब तहखाना खोलते वक्त कई तरह की अंजान आवाजें और भय ने ऐसा होने नहीं दिया।

मान्यता है कि तब दरवाजा खोलते वक्त पानी की तेज धार जैसी और कई आवाजें जोर-जोर से सुनाई दी थी। ऐसा लगा मानों दरवाजें के पीछे समंदर उफान मार रहा हो। यह भयावह ध्वनि और दृश्य को देखकर वहाँ के पुजारी और अन्य लोग बुरी तरह से डर गए। यहाँ पुरानी मान्यता है कि यदि इस तहखाने को खोला गया तो दुनिया का सर्वनाश करीब आ जाएगा।

अब 140 साल हो चुके है पर पद्मनाभस्वामी मंदिर के छठे दरवाजे का राज अब तक राज ही है। यहाँ के लोगों और राज परिवार के मुताबिक़ छठे तहखाने में एक गुप्त सुरंग है। इस सुरंग का रास्ता सीधे समुद्र में जाकर खुलती है। कहा जाता है कि इस सुरंग में एक विशालकाय कई सिर वाला किंग कोबरा और नागों का झुण्ड है जो इस खज़ाने की हिफाज़त करते हैं।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close