Breaking News

गड़ियाघाट वाली माँ के मंदिर में पानी से जलता है, वजह है काफी हैरान कर देने वाली

गड़ियाघाट वाली माँ का मंदिर भारत में बहुत से चमत्कार देखने को मिल जाते है और इन चमत्कारों की वजह से भक्तों की भगवान पर आस्था और भी बढ़ जाती है आज हम आपको ऐसे चमत्कारी मंदिर के बारे में बताने जा रहे है जहाँ का दीपक तेल से नहीं पानी से जलता है. इस वजह से ये मंदिर काफी फेमस हो चुका है.

हम बात कर रहे है गड़ियाघाट वाली माँ के नाम से जाने वाले मंदिर की जो की मध्यप्रदेश के शाजापुर जिले में कालीसिंध नदी के तट पर बना हुआ है. इस मंदिर की अनोखी रहस्यमय के कारण यहां हमेशा माता के भक्तों का तांता लगा रहता है. बता दे कि दीपक जलाने के लिए मन्दिर के पास उपस्थित कालीसिंध नदी से पानी लाया जाता है.


इस मंदिर में बरसात के दिनों में दीपक नहीं जलता है क्योंकि ये मंदिर कालीसिंध नदी के तट पर बना हुआ है जहाँ बरसात के दिनों में नदी का जलस्तर बढ़ जाता है जिस वजह ये मंदिर डूब जाता लेकिन बरसात के बाद दीपक फिर से जला दिया जाता है जो अगली बरसात के आने तक जलता है.


पानी से ये दीपक आज से नहीं बल्कि 6 सालों से जल रहा है मंदिर के पुजारी दावा है कि गड़ियाघाट वाली माँ के इस मंदिर में पहले हमेशा तेल का ही दीपक जला करता था लेकिन लगभग 6 साल पहले माता ने सपने में दर्शन दिए और ये कहा कि तुम अब पानी का दीप जलाओ. तब से इस मंदिर में दीपक पानी से जलता है.

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close