Breaking News

भारत के साथ लंबी पारी खेलना चाहते हैं ट्रंप, चीन को पटखनी देने की तैयारी में जुटे दोनों देश, जानिए क्या है प्लान......

अमेरिका ने इन बात को एक मर्तबा फिर से जाहिर कर दिया कि वो भारत के लिए कुछ भी कर सकता है..कुछ भी का मतलब..कुछ भी है..हालांकि इसकी बानगी हमें कई मौकों पर देखने को मिल चुकी है कि भारत और अमेरिका के रिश्ते बेहद प्रगाढ़ हैं, मगर एक बार फिर से व्हाइट हाउस की तरफ से भारत के रिश्ते को मुधर बनाने की दिशा में एक और कदम बढ़ाना यकीनन भारत के लिए शुभ संकेत हैं, वो भी ऐसे समय में जब चीन लगातार सीमा पर वार्ता की आड़ में तनाव पैदा करने पर अमादा हो चुका है। याद दिला दें कि व्हाइट हाउस की तरफ से स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ट्वीट कर कहा कि हम भारत के अपने दोस्तों को उनके स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बधाई देते हैं।'
ध्यान रहे कि अमेरिका में भारतीय मूल के लोगों ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर को बड़े ही धूमधाम से मनाया था। इस संदर्भ में एनएससी ने भी ट्ववीट कर कहा कि अमेरिका भारत के साथ अपने संबंधों को और मजबूत करना चाहता है और हमेशा के लिए भारत का एक भरोसेमंद दोस्त बना रहना चाहता है। इस सप्ताह की शुरूआत में भी एनएससी से जुड़े वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत के संबंधों को एक नई ऊंंचाई देने का काम किया है। भारत के साथ संबंधों को मजबूत बनाने की दिशा में ऐसी पहल कभी नहीं की गई थी, जैसी पहल अमेरिका द्वारा की गई है।

वहीं बात अगर अमेरिका के साथ अपने संबंधोंं को सबल बनाने की दिशा में पीएम मोदी द्वारा किेए गए प्रयासों की करें तो यह काफी सराहनीय रही है। हाउडी मोदी और नमस्ते ट्रंप इसका एक अहम हिस्सा रहा है। याद दिला दें कि हाउडी मोदी कार्यक्रम में 55 हजार से भी अधिक भारतीयों की भीड़ उमड़ी थी तो वहीं अहमदाबाद में नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम में 1 लाख से भी अधिक लोगों की भीड़ उमड़ी थी। एनएससी के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक दोनों देशों की तरफ से की गई यह पहल यह जाहिर करती है कि दोनों ही देश अपने संबंधों को सबल बनाने की दिशा में तत्पर नजर आ रहे हैं और चाहते हैं कि दोनों के संबंध दीर्घकालीक तक मधुर बने रहें।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close