Breaking News

शातिर दिमाग के चोर, पकड़ में ना आये इसलिए चलने से पहले मोबाइल कर देते थे बंद, रस्से की मदद से पिकअप से एटीएम समेत कैश लेकर हो जाते थे फुर्र

 गिरोह का सरगना बेगी नाजर सहारनपुर वासी फरमान हैं। इसमें 20 से अधिक युवक सहारनपुर के आस-पास के गांव के जुड़े हैं। कुरुक्षेत्र के अलावा कई जिलों और पंजाब तक में वारदात को अंजाम देते थे। आरोपियों से करीब सवा लाख रुपए की नकदी पुलिस ने बरामद की है ।
एसपी आस्था मोदी ने बताया कि सीआईए वन प्रभारी गुरविंद्र सिंह के नेतृत्व में एएसआई प्रेम चन्द व हेड कांस्टेबल सुरेन्द्र सिंह की टीम ने छानबीन कर गिरोह के सभी सदस्यों को दबोच चार अगस्त को तीन दिन के रिमांड पर लिया था। आरोपियों ने पंजाब, हरियाणा के कुरुक्षेत्र, यमुनानगर, अम्बाला, कैथल, जींद आदि जिलों में 40 से अधिक वारदात जिनमें एटीएम चोरी, भैंस चोरी, ट्रक चोरी, ट्रैक्टर व खड़े ट्रकों के टायर चोरी की कबूलीं। इनमें फरमान व इकराम उर्फ़ गुडफोड़ पर ढाई हजार इनाम भी पुलिस ने घोषित किया था। फरमान को सीआईए वन ने गिरफ्तार भी किया था। जमानत के बाद पेश न होने पर कोर्ट ने उसे भगोड़ा घोषित किया था। गिरोह के सदस्यों की कई बार पुलिस के साथ मुठभेड़ भी हो चुकी है। गिरोह ने शाहबाद से सरिये से भरा ट्रक चोरी कर

यूपी से चलने से पहले अपने मोबाइल भी बंद कर देते थे। फिर रस्से व पिकअप की मदद से एटीएम मशीन उखाड़ते थे। पिकअप पर फर्जी नंबर प्लेट या उस पर गोबर आदि लगाकर रखते थे, ताकि नंबर ट्रेस न हो। कई साल से हरियाणा में सक्रिय होने के चलते ये सभी रास्तों से अच्छे से वाकिफ हैं, रात 2 बजे के करीब वारदात को अंजाम देकर वापस सहारनपुर चले जाते थे। आरोपियों ने करीब डेढ महीने पहले सहारनपुर एरिया में ही एक एटीएम उखाड़ लिया।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close