Breaking News

इस व्यक्ति के पास थी दिव्य शक्ति, इसके रहस्य को वैज्ञानिक भी नहीं सुलझा सके आज तक, वजह जानकर रह जाओगे दंग

कोई भी व्यक्ति जो ज्ञान प्राप्ति के लिये विधिवत रूप से कार्यरत हो उसे वैज्ञानिक  कहते हैं। किन्तु एक सीमित परिभाषा के अनुसार वैज्ञानिक विधि का अनुसरण करते हुए किसी क्षेत्र में ज्ञानार्जन करने वाले व्यक्ति को वैज्ञानिक कहते हैं।

इस धरती पर ऐसे-ऐसे भी इंसान हुए हैं, जो चमत्कारिक माने जाते हैं। ऐसे इंसानों की विलक्षण शक्तियों के बारे में जानकर विज्ञान भी हैरान रह गया है। आज से करीब 143 साल पहले अमेरिका में भी एक ऐसा ही इंसान पैदा हुआ था, जिसके पास माना जाता था कि 'दिव्यशक्ति' है। उसके रहस्यों को वैज्ञानिक भी आज तक नहीं सुलझा सके हैं।


इस शख्स का नाम है एडगर कायसे। 18 मार्च 1877 को अमेरिका के केंटुकी में जन्मे एडगर जब 25 साल के थे, तब उनके साथ एक बेहद ही अजीबोगरीब और आश्चर्य कर देने वाली घटना घटी थी। वह गिरने की वजह से कोमा में चले गए थे। डॉक्टरों की लाख कोशिशों के बावजूद भी वह होश में नहीं आ सके, लेकिन एक दिन अचानक एक चमत्कार हुआ और वो बोल पड़े। हैरानी की बात तो ये थी कि जब वो बोल रहे थे, तब भी वह कोमा में ही थे जबकि कोमा में रहने वाला व्यक्ति न तो हिल-डुल पाता है और न ही बोल पाता है। वह एक 'जिंदा लाश' की तरह होता है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close