Breaking News

तैरना भी नही जानते थे फिर भी यमुना में कूद गए थे अटल बिहारी वाजपेयी, वजह जानकर रह जाओगे दंग.....


एक दिन अटल जी ने साथियों के ताने से परेशान होकर बिना सोचे समझे ही यमुना में छलांग दी। उस दिन अटल जी बाल बाल बच गए। यह घटना यमुना के किनारे स्थित बटेश्वर नाथ मंदिर की है। वाजपेयी के भतीजे बताते है कि उन्हें साथियों ने बड़ी मुश्किल से बाहर निकाला। इस घटना के बाद अटल जी ने तैरना सीखा और दोबारा यमुना में छलांग लगाई।


बता दे कि अटल जी उस वक्त पांचवी क्लास में पढ़ते थे। अटल जी ने तब से ही यह सीख हासिल कर ली कि मुश्किलों से कभी भी जी नहीं चुराना है बल्कि हमेशा उनका डटकर सामना करना चाहिए। आज भले ही अटल जी हमारे बीच नहीं है लेकिन उनकी दी हुई यह सीख हमें जिंदगी भर प्रेरणा देती रहेगी।

बता दे कि 1930 में यमुना के किनारे बटेश्वर में वाजपेयी जी के घर से जुड़े लगभग 60 परिवार निवास करते थे। 1942 में अटल जी ने भारत छोड़ो आंदोलन की शुरूआत यही से की थी। चूंकि ग्वालियर में उनके पिता को पता चल सकता था, इसी वजह से अटल जी अक्सर आगरा से ही स्वतंत्रता संग्राम की गतिविधियो में भाग लेते थे। ऐसे महान राजनेता को हम शत शत नमन करते हैं।
बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close