Breaking News

वाह..कमाल हो गया..बिहार के इस शख्स ने पानी पर चलने वाली बना डाली साइकिल, मात्र इतने रूपये में पानी पर दौड़ेगी.....

आज हम आपको एक ऐसे ही शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने 60 साल की उम्र में पानी पर चलने वाली नाव बना डाली है। इस शख्स का नाम मोहम्मद सैदुल्लाह है। महज 10 वीं पास सैदुल्लाह को पानी पर चलने वाली साइकिल बनाने की वजह से 2005 में नेशनल ग्रासरूट इनोवेशन ऑवार्ड भी मिला था।

मोहम्मद सैदुल्लाह कहते हैं कि 1975 की बात है, जब बिहार में बाढ़ आई थी। यह बाढ़ तीन हफ्तों तक रहा था। इस दौरान लोगों को खासा परेशानी हो रही थी तो इस बीच सैदुल्लाह नाव से नदी पार कर रहे थे, तभी उनके दिमाग में एकाएक एक तरकीब सुझी कि क्यों न एक ऐसी साइकिल बनाए जाए जो पानी पर भी चलने के काबिल हो..बस फिर क्या था..जैसे ही उनके दिमाग में यह तरकीब सुझी तो उन्होंने इसे बनाने का काम शुरू कर दिया और आप यकीन मानिए कि उन्होंने महज तीन दिनों में यह साइकिल बना डाली। इस साइकिल का नाम उन्होंने अपनी पत्नी नूर के नाम पर रखा। 

इस साइकिल को बनाने में 6 हजार रूपए का खर्चा आया था। इस साइकिल में रेक्चूगुलर एयरफ्लोट है, जो कि साइकिल को तैरने में मदद करता है। यह जोड़ी में होता है, जिसके आगे पीछे दो पहिेए लगे होते हैं। साइकिल को चलाने के लिए फ्लोट को फील्ड भी किया जाता है।

सैदुल्लाह बताते हैं कि अब तो इस साइकिल को महज 3 हजाह रूपए में भी बना सकते हैं। वे कहते हैं कि उन्होंने इस साइकिल से बहुत सारे लोगों को उनके मंजिल तक पहुंचाने का काम किया। सैदुल्लाह के बारे में बताया जाता है कि अविष्कारों का जुनून उनके सिर पर सवार रहता है। अभी मौजूदा समय में वे चारों तरफ घूमने वाले पंखा भी बनाने में व्यस्त है। उनके अंदर अविष्कारों का जुनून इस कदर सवार रहता है, यह अब तक इन अविष्कारों के चलते वे अपनी 40 एकड़ तक की जमीन भी बेच चुके हैं। उनकी साइकिल का नाम हर बच्चे की जुंबा पर छाया रहता है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close