Breaking News

बिकारु कांड में आया बड़ा खुलासा, अब अमर दुबे की पत्नी ख़ुशी के पिता का दावा, बेटी है नाबालिग तो फिर शादी कैसे....

ख़ुशी के पिता का आरोप है पुलिस वालों ने उनकी बेटी को जानबूझकर इस मामले में फंसाया है। वो नाबालिग है। उसे इतनी समझ ही नहीं कि वो इतनी बड़ी योजना बना सके। खुशी के पिता श्याम लाल तिवारी ने बुधवार को कानपुर देहात में माटी मुख्यालय में विशेष एंटी-डकैत कोर्ट के समक्ष एक हलफनामा पेश किया, जिसमें खुशी के साथ नाबालिग के तौर पर पेश आने का अनुरोध किया गया।

उनके वकील शिवाकांत दीक्षित ने मीडियाकर्मियों को बताया कि 'बिकरू कांड वाले दिन खुशी की उम्र 16 साल और 11 महीने थी। एफिडेविड के साथ खुशी के हाई स्कूल सर्टिफिकेट को भी संलग्न किया गया है, जिससे पता चलता है कि उनका जन्म 21 अगस्त 2003 को हुआ था।

खुशी के पिता ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उनकी नाबालिग बेटी को बिकरू मामले में जानबुझकर फंसाया। उन्होंने कहा, 'वह वयस्क नहीं है और न ही इतनी परिपक्व है कि गैंगस्टर और उसके सहयोगियों के साथ मिलकर योजना बना सके. हमें संदेह है कि पुलिस ने उसे फंसाया है, और अगर मेरी बेटी ने अपराध किया भी है, तो पुलिस को उसके साथ नाबालिग के रूप में पेश आना चाहिए और कोर्ट को इस बारे में फैसला करने देना चाहिए।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close