Breaking News

अनोखा देश, जहां बच्चों की मौत के बाद उन्हें पेड़ के तने में दफना दिया जाता है, वजह जानकर रह जाओगे दंग

 जैसे हिंदू धर्म में मृत व्यक्ति की चिता जलाई जाती है, वहीं इस्लाम धर्म में शव को जमीन में दफनाए जाने की परंपरा है। क्रियाकर्म को लेकर आपने अब-तक इन दो ही रिवाजों के बारे में सुना होगा, लेकिन आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां शव को न जलाया जाता है और न ही दफनाया जाता है। वो भी केवल बच्चों के शव को।

इस जगह पर बच्चों के शव को पेड़ के तने में दफनाने का रिवाज है।इस देश का नाम है 'इंडोनेशिया'। जी हां, इंडोनेशिया में शव के क्रियाक्रर्म और कर्मकांड को लेकर ये विचित्र रिवाज निभाया जाता है।

इंडोनेशिया के ताना तरोजा इलाके में इस प्रथा का पालन किया जाता है। यहां के लोग कहते हैं कि जिन बच्चों की मौत उम्र से पहले हो जाती है यानी दुधमुंहे बच्चे उन्हें पेड़ के तने में छेद करके दफना दिया जाता है। शव को दफना से पहले उनके शरीर को कपड़े से लपेट लिया जाता है।
क्यों पेड़ में दफनाया जाता है-

इसके पीछे दो वजह बताई गई है, एक पेड़ के तने में शव दफन करने से बच्चा प्रकृति की गोद में हमेशा से लिए समा जाता है।

दूसरी वजह यह दी गई है कि इस तरह बच्चा जीवित रूप से तो उनके पास नहीं रह पाता, लेकिन वह पेड़ के रूप में उनके आसपास जिंदगीभर रहता है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close