Breaking News

धोखेबाज सहेली ने खेला ऐसा घिनौना खेल, महीनेभर दरिंदों से लुटवायी इज्जत, उसके बाद…

 मामला भोपाल की रहने वाली एक युवती का है जो ग्वालियर में नौकरी करती थी और उसे मुरैना में धोखे से बेच दिया गया। युवती के भाई को इस साजिश की खबर लगी थी और उसने कोर्ट में गुहार लगाते हुए बहन को रिहा कराने की मांग की थी जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों के चंगुल से युवती को छुड़ाया है। भोपाल के रहने वाले आकाश विश्वकर्मा ने कोर्ट में गुहार लगाई थी कि उसकी बहन जो कि ग्वालियर में नौकरी करती है उसे उसकी महिला दोस्त माया शाक्य अपने घर जौरा ले गई थी और अपने दोसत मोहर सिंह रजक और जौरा के ही लोकेन्द्र शर्मा की मदद से डरा धमाकर मुरैना के छोटे गुर्जर और कल्ली गुर्जर को बेच दिया है।
10 अगस्त को जैसे ही कोर्ट के समक्ष और पुलिस को इस घटना की जानकारी दी थी जिसके बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और अब आरोपियों के कब्जे से युवती को मुक्त कराया है।
पुलिस के मुताबिक आरोपी माया शाक्य, मोहर सिंह और लोकेन्द्र शर्मा ने 30 जुलाई को मुरैना के रहने वाले छोटे गुर्जर और कत्ली गुर्जर को युवती को बेच दिया था। इसके बाद आरोपी युवती को लेकर कुछ दिन तक बामौरी में रहे और वहां पर उसके साथ जबरदस्ती बलात्कार किया और फिर बाद में कत्ली गुर्जर उसे वापस अपने घर ले आया जहां बंधक बनाकर युवती को रखा गया था और उसके साथ मारपीट कर बलात्कार किया जाता था। किसी तरह आरोपियों से बचकर युवती ने गांव के ही रहने वाले दूसरे शख्स के मोबाइल से भाई को फोन कर पूरी घटना बताई थी जिसके बाद पुलिस को मामले की सूचना लगी और भोपाल पुलिस ने मुरैना पुलिस के साथ मिलकर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी माया शाक्य और लोकेन्द्र शाक्य आपराधिक प्रवृत्ति के हैं जिन पर पहले से ही हत्या का प्रकरण चल रहा है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close