Breaking News

ताजमहल के इस तहखाने की सच्चाई जानेंगे तो पैरों तले खिसक जाएगी जमीन, जरूर जानिए ये रहस्य.....



पिछले कई वर्षो से यह विवाद बना है कि वास्तव में ताजमहल का नाम तेजो महालय होना चाहिए क्यूँ कि इस स्थान पर पहले शिवजी भगवान् का मंदिर था. आपको बता दे कि ताजमहल के तहखाने में कुल 22 कमरे है और सदा से इन कमरों को बंद रखा जाता है. किसी को भी इनके अन्दर जाने की इजाजत नही है.


आज तक किसी को भी इन तहखानो का रहस्य पता नहीं लगा पाया. आज हम आपको बतायेंगे कि क्यों ताजमहल के तहखानो को बंद रखा जाता है. एक ऐसा रहस्य जिसे जानकार आप आश्चर्यचकित रह जाएंगे. कुछ सिद्धांतकारो का कहना है कि ताजमहल के नीचले हिस्से के कक्ष मार्वल के बने हुए है.


अगर तहखाने में कार्बनडाई ऑक्साईड की मात्रा अधिक हो जायेगी तो कैल्शियम कार्बोनेट में बदल जायेगी. क्यूँकि कार्बनडाई ऑक्साईड की वजह से मार्बल पाउडर के रूप में बदल जाएगा जिससे ताजमहल की दीवारों को बहुत नुक्सान होगा.

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close