Breaking News

कोरोना काल में गोरखधंधा कर रहे है अस्पताल, अगर ऐसा हाल रहा तो अ-स्पता’लों से लोगो का भरोसा उठ जायेगा

ये मामला राजस्थान के सीकर जिले के अलीगढ कस्बे का है जिसमें गीतांजलि नाम का  एक निजी अस्पताल है जिसपर परिजनों ने आरोप लगाते हुए पुलिस थाणे में मामला दर्ज करवाया है ! परिजनों ने साफ़ तौर पर अस्पताल पर ये आरोप लगाया है कि अस्पताल की लापरवाही से नवजात की मौत हो गयी और अस्पताल वालो ने प्रसूता की बच्चे दानी को गायव कर दिया है

अजीतगढ़ पुलिस थाणे में नयन शाह पूरा निवासी विक्रम मीणा ने शिकाया दर्ज करवाई है कि उसकी पत्नी आशा  देबी को को 9  जुलाई को गीतांजलि अस्पताल में भारती करवाया गया ! तब अस्पताल के लोगो ने सही तरह से इलाज़ करने और देखभाल करने का हवाला दिया लेकिन बाद में  एसा कुछ नहीं हुआ ! अस्पताल में सही कोई सुविधा न होने के कारण  और  सही वक़्त पर उपचार  न होने के कारण  आशा देवी की हालत काफी बिगड़ गयी और नवजात की मृत्यु हो गयी !

जिसके बाद अस्पताल वालो ने आशा के अन्दर खून की कमी बताई और उसे जयपुर रेफर करने को कहा ! लेकिन जयपुर जाकर अस्पताल वालो ने बताया की आशा के अन्दर से बच्चे दानी गायव है ! जिसके बाद 27 जुलाई तक आशा की इलाज़ चलता जयपुर में चलता रहा ! जिसके बाद गिताब्जली अस्पताल से कागज लेने गये तो उनके साथ अभद्र शब्दों का पर्योग किया गया !

Share

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close