Breaking News

ये है दुनिया का अनोखा गाँव, जहाँ इस गांव में लोगों को नाम से नहीं बल्कि संगीत की धुन से बुलाते हैं, वजह कर देगी हैरान

गौरतलब है कि यह जगह स्थित है उत्तरपूर्वी राज्य मेघालय में है। इस गांव का नाम है ''कॉन्गथॉन्ग''। यह एक ऐसा गांव है जहां हर कोई एक दूसरे को कोई खास धुन या संगीत के माध्यम से बुलाता है। यहां के जंगलों में सुनाई देने वाली विभिन्न प्रकार की धुन और चहचहाहट की गूंज वाली आवाज लोग निकालते हैं। वह एक विभिन्न प्रकार की सीटी बजाते हैं। यह इस गांव की परंपरा है।
यहां बता दें कि इस गांव में बच्चे के जन्म के बाद उसकी मां एक खास धुन बजाती है और उस बच्चे को उम्रभर उसी धुन से बुलाया जाता है। ऐसा नहीं है कि यहां बच्चों के नाम नहीं होते हैं पर कोई गलती करने पर ही उसे उसके नाम से बुलाया जाता है। मेघालय के जंगलों में बसने वाले लोग यहां मिलने वाले सामानों से ही जिंदगी गुजारते हैं।
आपको बता दें कि साल 2000 में यहां बिजली पहुंची है और यहां तक पहुंचने के लिए कच्चा रास्ता भी 2013 में बनाया गया है। यहां के रहने वाले खांगसित कहते हैं कि हम जंगलों के बीच चारों ओर से पहाड़ियों से घिरी हुई जगह में रहते हैं। जिस संगीत की धुन से लोग एक दूसरे को पुकारते हैं वह 30 सेकेंड तक लंबी होती है लेकिन सब प्रकृति से प्रेरित हैं और ईश्वर की बनाई इस अनोखी दुनिया में खुश हैं। यहां रहने वाले खासी समुदाय के लोगों को इस बात का पता नहीं है कि संगीत की धुन के जरिए बुलाने की परंपरा की शुरुआत कब हुई लेकिन उन्होंने कहा उनका मानना है कि गांव की स्थापना के समय से ही यह परंपरा चली आ रही है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close