Breaking News

भारत के इस अनोखे मंदिर में चोरी करने पर मिलता है चमत्कारी वरदान, जानिए इस के रहस्य के बारे में

भारत आस्था और विश्वास का देश है। हिंदू धर्म में मंदिर और पूजन का विशेष महत्व माना गया है। कुछ मंदिर ऐसे भी हैं, जो सिर्फ मनोकामना पूरी करने के लिए ही नहीं बल्कि अपनी किसी अनोखी या चमत्कारिक विशेषता के कारण भी जाने जाते हैं। 

आज हम आपको बताने जा रहे हैं भारत के कुछ ऐसे ही प्राचीन मंदिरों के बारे में जिन से जुड़ी चमत्कारिक बातों को कोई माने या न माने, लेकिन इनकी ये खास विशेषताएं किसी को भी सोचने पर मजबूर कर देती है। आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे है जहां पर चोरी करने पर चमत्कारी वरदान मिलता है।

आपकी जानकारी के अनुसार ये मामला मान्यता है की यहाँ माता के चरणों में हमेशा एक लोकड़ा रहता है और जो भी दम्पति इस लोकड़ा को चुरा कर ले जाती है उसे पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है और जब पुत्र हो जाता है तो दम्पति पुत्र के साथ वह लोकड़ा लेकर आते है और इसके साथ एक और लोकड़ा लेकर आते है इसे माता के चरणों में रख दिया जाता है।

राणों के अनुसार, एक बार भगवान ब्रह्मा ने भगवान शिव का अपमान कर दिया था, इस बात से भगवान शिव बहुत क्रोधित हो गए और उनके नेत्रों से कालभैरव प्रकट हुए। क्रोधित कालभैरव ने भगवान ब्रह्मा का पांचवा सिर काट दिया था, जिसकी वजह से उन्हें ब्रह्म-हत्या का पाप लगा। इस पाप को दूर करने के लिए वह अनेक स्थानों पर गए, लेकिन उन्हें मुक्ति नहीं मिली।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close