Breaking News

चीन को सबक सिखाने के मूड में आया भारत, अब सर्दियों में सीमा पर बढ़ी रहेगी फौजियों की तैनाती, बनाया ये धांसू प्लान.....

र्वोत्तर और मध्य कमान का दौरा करने का मकसद भी यही था कि ठंड के दिनों तक अगर चीन के साथ संघर्ष की नौबत आती है तो उससे पहले ही सारी एलएसी के सारे क्षेत्रों में भी ऑपरेशनल तैयारियां पूरी कर ली जाएं। 

प्रधानमंत्री मोदी 10 अगस्त को करेंगे सबमरीन ऑप्टिकल फाइबर केबल का उद्घाटन चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (​​एलएसी) के मध्य भाग में आने वाले हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड की देखरेख मध्य कमान के हाथों में है। 

इसी तरह पूर्वोत्तर में आने वाले सिक्किम, अरुणाचल की देखरेख सेना की पूर्वी कमान के पास है। भारत का अब तक का फोकस पूर्वी लद्दाख पर रहा है, जहां 30 हजार से अधिक अतिरिक्त सैनिकों और भारी भरकम उपकरण मई से तैनात किए गए हैं। इसके अलावा पूर्वी और मध्य क्षेत्रों में भी सेना की तैनाती की गई है। चीन मामलों के लिए गठित चाइना स्टडी ग्रुप ने भी दोनों क्षेत्रों में सेना की तैयारियों की एक नई समीक्षा की है।

चीन सीमा से जुड़े सभी मुद्दों के लिए चाइना स्टडी ग्रुप सरकार का सबसे बड़ा एडवायजरी ग्रुप है, जिसका नेतृत्व एनएसए अजीत डोभाल करते हैं और कैबिनट सेक्रेटरी, रक्षा सचिव, गृह सचिव, विदेश सचिव सहित खुफिया एजेंसियों के प्रमुख इसके सदस्य हैं। तीनों सेनाओं के के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी भी इस ग्रुप का हिस्सा हैं। 

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close