Breaking News

इस मंदिर में केवल पुजारी ही कर सकता है प्रवेश, भक्त बाहर ही खड़े रहते हैं, वजह जानकर रह जाओगे दंग......

एक मंदिर ऐसा भी है जिसमें भक्तजनों को अंदर प्रवेश ही नहीं मिलता है। केवल पुजारी ही इस मंदिर के अंदर दाखिल होने का हक रखता है। जी हां, देहरादून के पास एक ऐसी ही अनोखा मंदिर है जिसमें दाखिल होने का अधिकार केवल पुजारी के पास होता है।

लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि इस मंदिर में भक्तों की मनोकामना पूरी नहीं होती है, बल्कि यहां तो आए दिन चमत्कार होते रहते हैं। तो चलिए आपको भगवान शिव के इस मंदिर के रहस्य से रूबरू करवा देते है। इसे महासू देवता का मंदिर कहते है। देहरादून के समीप स्थित त्यूनी-मोरी रोड़ पर बना हुआ यह प्राचीन मंदिर काफी चर्चित है। यहां पर प्रति वर्ष राष्ट्रपति भवन की ओर से नमक चढ़ाया जाता है।

टोंस नदी के किनारे स्थित महासू देवता का यह मंदिर आम बोलचाल की भाषा में हनोल मन्दिर के नाम से भी जाना जाता है। मंदिर के तीन कक्ष हैं। पहले कक्ष में पारंपरिक वाद्य यंत्र जैसे कि नौबत आदि बजाए जाते हैं। महिलाएं और पुरुष भक्त इसी कक्ष तक प्रवेश कर सकते है।

अंतिम कक्ष में केवल मन्दिर के पुजारी ही प्रवेश कर सकते है। इसके अलावा केवल वे लोग ही अंदर दाखिल हो सकते हैं, जिन पर महासू देवता अवतरित होकर भक्तों की बिगड़ी बनाते हैं। मन्दिर के गर्भगृह के अन्दर भगवान शिव के प्रतीक के रूप में महासू देवता की मूर्ति रखी हुई है। वाकई में यह मंदिर अनोखा इतिहास लिए हुए है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close