Breaking News

तांबे की पत्तियों पर लिखवाएं नाम और करे दान, अपना नाम लिखवाकर तांबे की पत्तियां दान कर सकते हैं लोग, पत्थरों को जोड़ने में होगा इस्तेमाल

श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के मुताबिक मन्दिर का निर्माण भारत की प्राचीन निर्माण पद्धति से किया जा रहा है ताकि वो लंबे वक्त तक न केवल खड़ा रहे, बल्कि भूकम्प समेत अन्य किसी भी प्रकार की आपदा से बचा रहे। ट्रस्ट के मुताबिक श्री राम जन्मभूमि मन्दिर के निर्माण का काम शुरू हो गया है। CBRI रुड़की और IIT मद्रास के साथ मिलकर निर्माणकर्ता कम्पनी L&T के इंजीनियर मिट्टी की जांच कर रहे हैं। इस मंदिर को तैयार होने में औसतन 36-40 महीने का समय लग सकता है।ram mandir construction: 40 महीने बाद भव्य राम ...

ट्रस्ट ने बताया कि मंदिर में लोहे का इस्तेमाल नहीं होगा। इसकी जगह पर पत्थरों को जोड़ने के लिए तांबे की पत्तियों का उपयोग किया जाएगा। निर्माण कार्य में 18 इंच लम्बी, 3 mm गहरी और 30 mm चौड़ी 10,000 पत्तियों की आवश्यकता पड़ेगी। 

ऐसे मे लोग तांबे की पत्तियों का दान कर सकते हैं। उनके मुताबिक इन तांबे की पत्तियों पर दानकर्ता अपने परिवार, क्षेत्र और मंदिरों का नाम लिखवा सकते हैं। इस प्रकार से ये तांबे की पत्तियां न केवल देश की एकात्मता का अभूतपूर्व उदाहरण बनेंगी बल्कि मन्दिर निर्माण में सम्पूर्ण राष्ट्र के योगदान का प्रमाण भी देंगी।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close