Breaking News

कोरोना बीमारी से तड़प रहा था युवक, पत्नी अस्पताल को करती रही कॉल, फ़ोन करने के बाद भी नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस, कोरोना संक्रमित की हुई मौत

एंबुलेंस की प्रतीक्षा में सोमवार को COVID-19 संक्रमित किराना व्यवसायी की मौत हो गई. उसकी वाईफ कोविड केयर सेंटर पर निरंतर कॉल करती रही, किन्तु तीन घंटे में भी एंबुलेंस नहीं प्राप्त कराई जा सकी. तत्पश्चात प्राइवेट एंबुलेंस से मरीज को हरदोई रोड स्थित निजी कोविड हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

वही अग्रसेन नगर मडियांव रहवासी किराना व्यवसायी का कुछ दिनों स्वास्थ्य थी नहीं था. उसने रविवार को आरएमएल में कोविड-19 की जाँच कराई. रिपोर्ट आने से पूर्व ही सोमवार प्रातः मरीज की स्थिति बिगड़ गई. आठ बजे सांस फूूलने पर पत्नी ने कोविड केयर सेंटर पर कॉल लगाया. वहां तीन घंटे तक टरकाने के पश्चात् भी एंबुलेंस नहीं भेजी गई. इस पर 11 बजे निजी एंबुलेंस से मरीज को हरदोई रोड स्थित प्राइवेट हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मरीज को मृत घोषित कर दिया.

वहीं दोपहर को व्यवसायी की COVID-19 की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई. साथ ही एंबुलेंस न प्राप्त होने के मामले पूर्व में भी सामने आ चुके हैं. एक प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में मरीज लेकर पहुंची एंबुलेंस को घंटों प्रतीक्षा करनी पड़ी थी, तो रजौली गांव रहवासी मरीज को दो दिन पश्चात् एंबुलेंस हॉस्पिटल ले गई थी. इसी प्रकार मानसरोवर प्लान के मरीज को भी एंबुलेंस के लिए तीन दिन की प्रतीक्षा करनी पड़ी थी. वही डॉ. आरपी सिंह ने अपने बयान में कहा, मामले की जानकारी नहीं है. यदि ऐसी लापरवाही हुई है, तो जांच अवश्य कराई जाएगी. साथ ही मामले की जाँच की जा रही है.

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close