Breaking News

ड्रैगन को एक और करारा झटका, अब ताइवान ने चीनी टेक कम्पनियों को अपने देश से खदेड़ा, Tencent और Qiyi पर लगाया ....

चीन को उसकी औकात का अंदाजा हो गया होगा कि भारत को गीदड़ भभकी दिखाने का मतलब अपनी बर्बादी की कहानी लिखना है. अब चीन की ये हालत हो गई है कि जिन देशों पर वह अपनी हुकूमत चलाता था और उन्हें रिपब्लिक ऑफ चाइना कहता था अब वे भी उसे ललकार रहे हैं और दुतकार रहे हैं. ऐसा ही एक देश ताइवान जिसे चाइना ने सबसे ज्यादा सताया होगा लेकिन अब वही देश भारत के साथ मिलकर उसे चुनौती दे रहा है.
भारत ने जून के अंत में 59 चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगाकर तकनीकी क्षेत्र में चीन के वर्चस्व पर लगाम लगाने के लिए एक अहम कदम उठाया था. लेकिन भारत के इस कदम का वैश्विक स्तर पर कितना असर पड़ेगा, इसका आभास तो शायद किसी को भी नहीं था. भारत के इस कदम से प्रेरित होते हुए अमेरिका ने भी चीनी टेक कंपनियों पर लगाम लगाने के लिए युद्धस्तर पर काम प्रारम्भ कर दिया और अब इसी रास्ते पर चलते हुए ताइवान ने अपने देश से चीनी टेक कंपनियों को दफा करना शुरू कर दिया है.

न्यूज़ एजेंसी WION की एक रिपोर्ट के अनुसार ताइवान ने चीनी विडियो स्ट्रीमिंग कंपनी Tencent और Qiyi पर प्रसारण नियमों का उल्लंघन करने और गैर कानूनी तरीके से काम के लिए प्रतिबंधित किया है. रिपोर्ट में कहा गया, "ऑनलाइन प्रकाशित किए गए एक नोटिस के अनुसार Tencent और Qiyi पर आरोप है कि वे ताइवान में अवैध तरीके से स्थानीय केबल ऑपरेटर्स के साथ काम करते हुए अपनी सेवाएं उपलब्ध कराते हैं."

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close