Breaking News

UP मैं फिर लग सकता है लॉकडाउन हाईकोर्ट ने सरकार से 2 दिन मांगे, जानिए पूरा प्रकरण

इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने कोविड-19 (COVID-19) संक्रमण के बढ़ते प्रकोप और मौतों (Death) पर अपनी गहरी नाराजगी जताई है. कोर्ट ने कहा कि सरकार ने रोडमैप (Roadmap) पेश कर संक्रमण फैलाव रोकने के कदम उठाने का आश्वासन तो दिया, 

लेकिन जिला प्रशासन बिना जरूरी काम के घूमने वालों, चाय-पान की दुकान पर भीड़ लगाने वालों पर नियंत्रण करने में नाकाम रहा. पुलिस ने बिना मास्क लगाए निकलने और सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन न करने वाले लोगों पर जुर्माना लगाया, चालान काटा, फिर भी लोग जीवन की परवाह नहीं कर रहे.


हाईकोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए कहा कि ब्रेड बटर और जीवन में चुनना हो तो जीवन ज्यादा जरूरी है. कोर्ट ने कहा कि अगर एक पखवाड़ा लॉकडाउन (Lockdown) किया जाता है तो लोग भूख से नहीं मरेंगे. कोर्ट ने कहा कि सरकार को संक्रमण फैलाव रोकने के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए.

 यह आदेश जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा और जस्टिस अजित कुमार की खंडपीठ ने क्वारेंटाइन सेंटरों की बदहाली और कोविड अस्पतालों की हालत सुधारने को लेकर कायम जनहित याचिका पर दिया है.

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close