Breaking News

पाकिस्तान-चीन की नींद उड़ाने वाला राफेल, 10 सितंबर को भारतीय वायुसेना में होगा शामिल फ्रांस की रक्षामंत्री करेंगी शिरकत

15 जून को गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद होने के बाद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखकर दुख जताया था। भारत को जुलाई के आखिर में पांच राफेल फाइटर जेट्स का पहला बैच मिला है। 27 जुलाई को 7 भारतीय पायलट 7000 किमी का सफर तय कर 29 जुलाई को राफेल लेकर भारत पहुंचे थे।

राफेल फाइटर जेट को रडार क्रॉस-सेक्शन और इन्फ्रा-रेड सिग्नेचर के साथ डिजाइन किया गया है। इसमें ग्लास कॉकपिट है। इसके साथ ही एक कम्प्यूटर सिस्टम भी है, जो पायलट को कमांड और कंट्रोल करने में मदद करता है। इसमें ताकतवर एम 88 इंजन लगा हुआ है। राफेल में एक एडवांस्ड एवियोनिक्स सूट भी है। राफेल में लगी मीटियॉर मिसाइल हवा से हवा में मार कर सकती है। इसकी मारक क्षमता 150 किलोमीटर है, यानी यह मिसाइल 150 किलोमीटर दूर मौजूद दुश्मन पर भी अचूक निशाना लगा सकती है।

पाकिस्तान-चीन की नींद उड़ाने वाला लड़ाकू विमान राफेल राफेल (Rafale) 10 सितंबर को औपचारिक रूप से वायुसेना का हिस्सा बन जाएगा। इंडक्शन समारोह में हिस्सा लेने फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली 10 सितंबर को भारत पहुंचेंगी। यह समारोह अंबाला एयरफोर्स बेस पर आयोजित होगा

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close