Breaking News

भूटान में चीन का डोकलाम 2.0 प्लान, जमीन कब्जाने की कोशिश, लेकिन भारत पहले से था रेडी

 चीन अब अपनी कुछ ऐसी ही हरकतें भारतीय मित्र राष्ट्र भूटान के सीमावर्ती इलाकों में भी कर रहा है। चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी अब भूटान के जरिए भारत पर दबाव बनाने की कोशिश में है लेकिन उसके आग लगाने वाले मंसूबों पर मोदी सरकार आए दिन अपनी सक्रियता का पानी फेर देती है और नतीजा ये कि वैश्विक स्तर पर चीन चारों खाने चित नजर आता है।

जी, चीन न सिर्फ भारत के साथ विवाद बढ़ा रहा है, बल्कि अपने दूसरे पड़ोसी देशों की सीमा पर भी नापाक नजर बनाए हुआ है। अपनी विस्तारवादी नीतियों के लिए दुनिया में मशहूर चीन लद्दाख और दक्षिण चीन सागर के बाद भूटान के भी कुछ हिस्सों को कब्जाना चाहता है। इसके लिए PLA यानी चीनी सेना भूटानी क्षेत्रों पर कब्जा जमाने की तैयारी कर रही है।

पीएलए सैनिकों की एक बड़ी तादाद भूटान के इलाकों को कब्जा करने में सक्रिय हो गई है। चीन ने भूटान के पांच पश्चिमी इलाकों पर अपना दावा ठोका है, ये इलाका भूटान के भीतर 40 किमी चुंबी वैली तक का हैं। गौरतलब है कि ये वही डोकलाम का इलाका है जिसके कारण 2017 में 73 दिन तक भारत चीन विवादों में उलझे थे।

सूत्रों के मुताबिक, चीन भूटान के साथ सीमा विवाद का फैसला अपने हक में लाने के लिए उसपर दबाव भी बना रहा है। माना जा रहा है कि चीनी सेना की ये मौजूदा तैयारी उसी का हिस्सा है। 2017 में डोकलाम विवाद के बाद से ही चीन भूटान सीमा के पास सड़क, हेलीपैड तैयार करने में लगा है। साथ ही वहां चीनी सैनिकों का जमावड़ा भी बढ़ गया है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close