Breaking News

भारतीय सैनिकों ने दिखा दी चीन को उसकी औकात, पराक्रम के आगे फिर खाई मात, 48 घंटे में दूसरी बार पिटा ड्रैगन


दरअसल चुमर के जिस इलाके में चीनियों ने घुसपैठ की कोशिश की वो सैन्य सुरक्षा के तौर पर कितना अहम और मुश्किल इलाका है। दोनों ओर से पहाड़ियों से घिरी ये जबरदस्त गहरी खाई है और इस खाई के बीच जो नाला बहता है। यही भारत और चीन के बीच लाइन ऑफ कंट्रोल बांटता है। भारतीय की ओर का इलाका चीन के मुकाबले काफी ऊंचाई पर है जो सामरिक तौर पर चीन के लिए अक्सर दबाव की वजह रहता है। शायद यही वजह थी कि चीन ने इस इलाके में घुसपैठ की कोशिश की लेकिन बुरी तरह पिटकर उसे लौटना पड़ा।
घटना 31 अगस्त की रात की है। जानकारी के मुताबिक चीनी PLA के जवानों ने ब्लैक टॉप से करीब 100 किलोमीटर दूर चुमर में घुसपैठ की कोशिश की। करीब 40-50 की संख्या में चीनी आर्मी के जवान 7-8 बख्तरबंद गाड़ियों में सवार होकर आए और चेपुजी कैंप से भारतीय इलाके की ओर बढ़ने की कोशिश की । लेकिन चुमर में भारतीय़ जवान पहले से ही मुस्तैद थे। भारतीय जांबाज़ों ने चीनी सैनिकों को बैरंग वापस खदेड़ डाला।

रक्षा सूत्रों के मुताबिक भारतीय सैनिकों को देखने के बाद चीनी बख्तरबंद गाड़ियों का काफिला वापस अपने ठिकानों की ओर लौट गया। चुमर में घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करने के बाद भारतीय इलाके में जवानों की तैनाती और बढ़ा दी गई है। बख्तरबंद गाड़ियों को भी तैनात किया गया है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close