Breaking News

अब चीन की खैर नही, भारत-इजराइल के बीच हुआ बड़ा समझौता, चीन से लड़ने के लिए बनायंगे खतरनाक हथियार...


रक्षा औद्योगिक सहयोग पर कार्य करने वाले उप-कार्य समूह का प्रमुख कार्य तकनीक का हस्तांतरण, रक्षा उपकरणों का संयुक्त विकास और उत्पादन, तकनीकी सुरक्षा, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, नवाचार और अन्य देशों को संयुक्त निर्यात सुनिश्चित करना होगा। 

इजराइल बीते लगभग दो दशकों से भारत को हथियारों के आपूर्तिकर्ता देशों की सूची में चौथे पायदान पर है। वह भारत को प्रति वर्ष तक़रीबन एक बिलियन डॉलर (लगभग 70 अरब रुपये) के सैन्य उपकरणों की बिक्री करता है।

भारत और इजराइल अपनी रक्षा साझेदारी को और आगे बढ़ाने के बारे में विचार कर रहे हैं। इसके लिए दोनों देश हाईटेक हथियार सिस्टम प्रोजेक्ट्स का साथ मिलकर सह-विकास और सह-उत्पादन करना चाहते हैं। इसे वे अपने मित्र देशों को निर्यात करेंगे। 

इस तरह की परियोजनाओं को प्रोत्साहित करने के लिए गुरुवार को भारत के रक्षा सचिव ने अपने इसरायली समकक्ष के साथ एक उप-कार्य समूह का गठन किया है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close