Breaking News

बड़ी खबर, सीमा पर तनाव के बीच चीन को कड़ा संदेश दे आ आये राफेल, लद्दाख में चीन बॉर्डर के करीब उड़ान भर रहे हैं राफेल जेट,

सूत्रों की तरफ से बताया गया है राफेल के पायलट्स अंबाला से लद्दाख तक राफेल को उड़ाकर ले गए थे। टाइम्‍स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक इस मिशन का मकसद लद्दाख के ऑपरेशनल एनवॉयरमेंट को परखना था।

आईएएफ के पास इस समय पांच राफेल जेट्स हैं और ये पूरी तरह से ऑपरेशनल हैं। अधिकारियों के मुताबिक इस समय चीन के साथ जारी टकराव के दौरान भी ये जेट्स किसी भी मिशन को सफलतापूर्वक पूरा कर सकते हैं। 10 सितंबर को ही अंबाला में इन जेट्स को औपचारिक तौर पर आईएएफ में शामिल किया गया है। उस समय आईएएफ चीफ, चीफ एय‍रमार्शल आरकेएस भदौरिया ने स्‍पष्‍ट कर दिया था कि राफेल किसी भी मुश्किल स्थिति में मिशन के रेडी हैं। चीफ एयर मार्शल आरकेएस भदौरिया के मुताबिक राफेल जेट्स भारत की जरूरत के हिसाब से उड़ान भर चुके हैं। ये जेट्स वर्तमान परिस्थितियों में बेहतर नतीजे देने में पूरी तरह से सक्षम हैं।


29 जुलाई को पांच राफेल जेट का पहला बैच अंबाला एयरफोर्स स्‍टेशन पहुंचा था और ये जेट्स इस समय 17 ग्‍लोडन एरो स्‍क्‍वाड्रन का हिस्‍सा हैं। अक्‍टूबर में राफेल जेट का एक और बैच फ्रांस से भारत आएगा। आईएएफ को साल 2021 तक सभी 31 राफेल जेट्स मिल जाएंगे।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close