Breaking News

शर्मानक: यहां रेप के बाद जला गईं हजारों मुस्लिम महिलाएं, सरकार ने ही सैनिकों को दी इज्जत लूटने की परमिशन

भारत में कई रोहिंग्या मुसलमान शरणार्थी बनकर आए। भले ही इलीगल तरीके से लेकिन देश ने उन्हें रहने की जगह दी। लेकिन अब म्यांमार के सैनिकों ने कुछ ऐसे खुलासे किये हैं जिसके बाद इन मुसलमानों के भागने की असली वजह सामने आई। सैनिकों के खुलासे के मुताबिक़ म्यांमार सरकार ने देश से आतंकवाद खत्म करने के लिए कई रोहिंग्या मुसलमानों के गांव को जला देने और सामने आए हर एक व्यक्ति को मार देने का ऑर्डर दिया था। इसके बाद वहां हजारों रोहिंग्या मुसलमानों को मत के घाट उतरा दिया गया। सबसे बुरी बात कि इनमें शामिल महिलाओं के साथ पहले रेप किया जाता फिर उन्हें जलाकर मार दिया जाता। इस कारण ही म्यांमार से करीब 7 लाख रोहिंग्या मुसलमान भागकर बांग्लादेश और भारत में पनाह लेने को मजबूर हो गए।



म्यांमार के दो सैनिकों ने अपनी ही देश की सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल खौफनाक खुलासे किये। रोहिंग्या मुसलमानों के ऊपर इस देश में कितना कहर बरपाया गया, ये उनके खुलासे से साफ़ हो गया।

इन दोनों सैनिकों ने बताया कि वो भी रोहिंग्या मुसलमानों को मारने में शामिल थे। उन्होंने बताया कि म्यांमार सरकार ने देश से आतंकवाद को जड़ से खत्म करने के लिए इस समुदाय को खत्म करने का फैसला किया। इसके लिए उन्होंने किसी को भी मारने की आजादी दे दी।

उन्हें रोहिंग्या के हर गांव को जला देने, हर व्यक्ति को मार देने की छूट दी गई। सैनिक इनके गांवों में जाते और लोगों का कत्लेआम करते। इतना ही नहीं, वहां मौजूद महिलाओं के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया जाता और फिर उन्हें जिंदा जलाकर मार दिया जाता था।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close