Breaking News

चीन की तो खैर नहीं, अमेरिका के इस कदम से खौफ में ड्रैगन, लद्दाख सीमा पर तैनात ये घातक विमान, भारतीय सेना ने भी बढ़ाया कदम....

अमेरिका के इस कदम के बारे में अधिक जानकारी देते हुए अमेरिकी पत्रिका द नेशनल इंट्रेस्ट ने कहा कि भारत और अमेरिका के संयुक्त सैन्य अभ्यास को लद्दाख सीमा पर ही अंजाम दिया जाएगा।

इसके इतर अमेरिका चीन के उस डिफेंस सिस्टम को भी परखना चहाता है, जिसमें तीन बी-2 बमवर्षक विमान अमेरिकी नेवल बेस डियागो गार्सिया में तैनात हैं, जो कि फिलहाल भारत से 10 मिली की दूरी पर ही तैनात है। अमेरिका यहीं से इन विमानों को अफगानिस्तान और ईराक में हमले के लिए भेजता रहा है।


उधर, अमेरिका के इस कदम के बारे में अमेरिकी वायुसेना के कमांडर कर्नल क्रिस्टोफर कोनंत ने भारत का जिक्र किए बगैर कहा इन विमानों को तैनात किया जाएगा। बॉम्बर टास्कफोर्स हमारी नैशनल हमारी सुरक्षा रणनीति का एक अहम हिस्सा है।

बता दें कि स्ट्रेटजिक कमान B-2 स्प्रिट स्टील्थ बॉम्बर खतरे और जरूरत के हिसाब दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में तैनात है। यह कदम इसलिए उठाया गया है ताकि भारत के प्रति चीन की उस हिमाकत का मुंहतोड़ जवाब दिया जा सके। उधर, चीन ने भी सीमा पर भारत से जारी तनाव को मद्देनजर रखते हुए एस-400 और एस-300 मिसाइल को तैनात किया है।


बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close