Breaking News

गुसे में बेकाबू हुआ बैल, बेकाबू बैलों से बचकर भाग रहे बच्चे पानी के गड्ढ़े में गिरे, तीन मासूमों की जान गई, तड़प तड़प कर तोडा दम....



पुलिस के अनुसार, जिन लोगों के बच्चों की मौत हुई, वो मूलत: पाटण जिले के रहने वाले हैं। बच्चों के पिता दिलीप ठाकोर हैं और वह अपने बहनोई शैलेष ठाकोर के साथ कालमेघडा गांव में खेत में रहकर खेत मजदूरी का काम करते हैं। दिलीप का दस वर्ष का बेटा राहुल, पांच वर्षीय बेटी किरण एवं शैलेष की पांच वर्षीय बेटी रिया घर के पास के खेत में खेल रहे थे। तभी बैल बेकाबू हो गए।


गुजरात में जामनगर जिले की कालावड तहसील के कालमेघडा गांव में एक हृदय विदारक घटना हुई। यहां कुछ बच्चे घर के पास एक खेत में खेल रहे थे। इसी दौरान वहां बैल बेकाबू हो गए। उनसे बचने के लिए बच्चे भागने लगे और तभी एक गड्ढ़े में गिर गए। वह गड्ढ़ा गहरा था और बारिश के पानी से भरा हुआ था। उसमें गिरने से बच्चों की जान चली गई। सूचना मिलने पर कालावड ग्रामीण पुलिस टीम घटनास्थल पहुंची। उसने आकस्मिक मौत का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

तब तीनों बच्चे भागने लगे और गड्ढे में गिर पड़े। इसका पता चलने पर बच्चों के परिजन एवं आस-पड़ोस के लोग वहां दौड़ पड़े। उसके बाद किसी तरह बच्चों को बाहर निकालकर गोंडल के अस्पताल ले जाया गया। लेकिन वहां मौजूद डॉक्टरों ने बच्चों को मृत घोषित कर दिया। बाद में पुलिस ने लाशें पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाईं।


बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close