Breaking News

क्या आप जानते है सूरज निकलने से पहले ही क्यों दी जाती है फांसी, इसके पीछे की वजह जानकर रह जाओगे दंग

आज हम आपको बताएंगे की फांसी सिर्फ सूर्योदय से पहले ही क्यों दी जाती है इसके पीछे का कारण क्या है आइए जानते हैं.


प्रशासनिक कारण :सूर्योदय से पहले फांसी देने का मुख्य कारण होता है प्रशासनिक कारण जेल के अधिकारियों की नजर से यदि देखा जाए तो यह बहुत बड़ा काम होता है फांसी देना इतना आसान नहीं होता इसमें कई छोटी-बड़ी प्रोसेस करनी पड़ती और इसके लिए पहले से ही तैयारी करनी पड़ती है सूर्योदय से पहले फांसी इसलिए दी जाती है ताकि जेल में रहने वाले दूसरे कैदियों पर इसका असर ना पढ़ सकें और उनकी दिनचर्या पर किसी तरह का कोई प्रभाव ना पढ़ सके फांसी देने से पहले अपराधी का पूर्ण रुप से मेडिकल चेकअप होता है और कई प्रकार का रजिस्ट्रेशन भी होता है फांसी देने के बाद अपराधी की लाश को उसके परिवार वालों को सौंप दी जाती है मुख्य कारण इसका यही होता है कि सूर्योदय से पहले फांसी देना सही माना जाता है.

नैतिक कारण : सूर्योदय से पहले फांसी देने का काम इसलिए कहा जाता है क्योंकि अपराधी को यदि सूर्योदय के पहले फांसी नहीं दी जा सकती है या बाद में फांसी दी जाती है तो उसके दिमाग में पूरे दिन वही बुरे ख्याल आते रहते हैं जो मानवता के लिहाज से सही नहीं होता है इसलिए अपराधी को सुबह जल्दी उठा कर उससे कई नित्य काम करवाते हैं और उसे सुबह फांसी दे देते हैं इसके बाद उसके परिवार वालों को अंतिम संस्कार करने का भी समय मिल जाता है.

सामाजिक कारण :फांसी सूर्योदय से पहले देने का मुख्य कारण सामाजिक कारण भी होता है समाज के नजर में फांसी देना बहुत बड़ी खबर होता है सूर्योदय से पहले फांसी इसलिए दे दी जाती है क्योंकि तब तक लोगों को इसके बारे में पता होता है तब तक काफी देर हो जाती है यदि लोगों को इस बारे में पता चल जाता है कि फांसी इस समय दी जाएगी या फिर सुबह नहीं बाद में दी जाएगी तो लोगों की को प्रतिक्रिया करने के लिए काफी समय मिल जाता है यदि सूर्योदय से पहले ही फांसी दे दी जाती है तो लोगों को कई प्रतिक्रियाएं करने का समय नहीं मिलता.


बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close