Breaking News

ये है दुनिया का अनोखा रहस्य जो अभी तक बना हुआ है, मिलिए तीन टांगो वाले व्यक्तियों से, इसका रहस्य जानेंगे तो उड़ जाएंगे होश

दुनिया में कभी-कभी ऐसे अजूबे देखने को मिलते हैं, जो बेहद ही आश्चर्यजनक होते हैं और उन अजूबों को देखने के बाद हम अक्सर सोचते हैं कि क्या ऐसा भी हो सकता है। एक ऐसा ही अजूबा था इटली का रहने वाला एक इंसान, जिसकी दो नहीं बल्कि तीन टांगें थी। जी हां, यह हैरान करने वाली बात तो है, लेकिन बिल्कुल सच है। कुदरत ने उसे असाधारण रूप में पैदा किया था और उस असाधारण रूप के साथ वो दो चार नहीं बल्कि 77 साल तक जिंदा रहा। इस अनोखे इंसान का नाम था फ्रांसेस्को 'फ्रैंक' लेंटिनी, जिसका जन्म 18 मई 1889 को इटली के सिसिली द्वीप में हुआ था। वह अपने 12 भाई-बहनों में पांचवें नंबर का था। जब वह बहुत छोटा था, तभी उसके माता-पिता ने उसे उसके चाचा-चाची के पास भेज दिया था, जहां उसका पालन-पोषण हुआ और वहीं से उसके करियर की भी शुरुआत हुई।



आपको जानकर हैरानी होगी कि लेंटिनी की तीन टांगें, चार पैर और दो गुप्तांग थे। उसका चौथा पैर उसकी तीसरी टांग के घुटने के पास से निकल रहा था। हालांकि वह पैर पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाया। कहा जाता है कि लेंटिनी एक प्रकार के विकार से पीड़ित थे, जिसमें उनके शरीर से आधा जुड़वां बच्चा जुड़ा हुआ था। वो 'आधा बच्चा' उनकी रीढ़ की हड्डी के साथ जुड़ा था।

फ्रैंक लेंटिनी को अपनी पूरी जिंदगी तीन टांगों, चार पैरों और दो गुप्तांगों के साथ ही गुजारनी पड़ी। ऐसा नहीं है कि फ्रैंक ने अपने अतिरिक्त अंगों को हटवाने की कोशिश नहीं की थी, लेकिन डॉक्टरों ने साफ-साफ कह दिया था कि अगर वह अपने अतिरिक्त अंगों को हटवाते हैं तो उन्हें लकवा मार सकता है और वो हमेशा के लिए अपाहिज हो सकते हैं, क्योंकि उनकी जो तीसरी टांग थी, वो उनकी रीढ़ की हड्डी के बिल्कुल पास थी।

फ्रैंक जब 12 साल थे, तब उनकी मुलाकात विंसेनजो मैगनैनो नामक शख्स से हुई, जो उस समय एक सर्कस का मालिक था। उसने फ्रैंक को सर्कस में भर्ती होने का सुझाव दिया, जो फ्रैंक को अच्छा लगा। देखते ही देखने फ्रैंक सर्कस में दर्शकों की पहली पसंद बन गए। तीन टांगें होने के बावजूद उनके पास गजब की फुर्ती थी। वह अपनी तीसरी टांग से फुटबॉल को किक मारा करते थे, जो लोगों को काफी पसंद आता था। साथ ही साथ वह हाजिर जवाबी थी थे और अपने जवाब से दर्शकों का दिल जीत लेते थे।

कई बार फ्रैंक अपनी तीसरी टांग का इस्तेमाल स्टूल की तरह किया करते थे और उसपर बैठ जाते थे। अक्सर लोग उनसे यह सवाल पूछते थे कि वह अपने लिए तीन पैरों वाला जूता कहां से खरीदते हैं? इसपर फ्रैंक जवाब देते कि वह हमेशा दो जोड़ी जूता खरीदते हैं और एक अतिरिक्त जूता अपने एक पैर वाले दोस्त को दे देते हैं।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close