Breaking News

राहुल गाँधी को पार्टी अधयक बनाने के लिए सोनिये ने कई बड़े पद इ किया उलटफेर, चिट्ठी विवाद के बाद कांग्रेस में बड़ा संगठनात्मक फेरबदल

गुलाम नबी आजाद से महासचिव का पद छीन लिया गया है. बता दें कि वे हरियाणा राज्य के प्रभारी थे. इस फेरबदल में सबसे बड़ा फायदा राहुल गांधी के वफादार रणदीप सिंह सुरजेवाला को हुआ है. सुरजेवाला अब कांग्रेस अध्यक्ष को सलाह देने वाली उच्च स्तरीय छह सदस्यीय विशेष समिति का हिस्सा हैं.

गुलाम नबी आज़ाद कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य बने रहेंगे. जो कि पार्टी के शीर्ष निर्णय लेने वाला पैनल है. कांग्रेस वर्किंग कमेटी में हुए बदलाव की बात करें तो इसमें कुछ नेताओं को सीडब्ल्यूसी का रेगुलर मेंबर बनाया गया है, उनमें वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम, जितेंद्र सिंह, तारीक अनवर और रणदीप सिंह सुरजेवाला शामिल हैं.
इसके साथ ही सुरजेवाला को कांग्रेस का महासचिव भी बनाया गया है. उन्हें कर्नाटक का प्रभारी बनाया गया है. रणदीप सिंह सुरजेवाला फेरबदल के सबसे बड़े लाभार्थियों में से हैं. उन्हें कर्नाटक का प्रभारी महासचिव नामित किया गया है और वह विशेष समिति में हैं और इसके साथ ही मुख्य प्रवक्ता के रूप में भी अपना कार्यकाल जारी रखेंगे. मधुसूदन मिस्त्री को केंद्रीय चुनाव समिति का अध्यक्ष बनाया गया है.

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close