Breaking News

मॉस्को में चीन ने दिखाई अकड़ तो फिर सुनी खरी-खरी, कहा ये ७० का भारत नही है , हम......

शुरुआत घुड़की भरे अंदाज में चीन सीमा पर तनाव के लिए भारत को ही कसूरवार ठहराने से की। अकड़ दिखाने की कोशिश करते हुए चीनी रक्षा मंत्री ने कहा कि चीन की सेना किसी भी मुकाबले का सामना करने को तैयार है लेकिन इसके बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वार्ता को आगे बढ़ाते हुए खरी-खरी सुनाई। उन्होंने अपने चिर-परिचित अंदाज में कहा कि चीन एक जिम्मेदार राष्ट्र जैसा रवैया दिखाते हुए लद्दाख में एलएसी पर तैनात अपनी सेना को पूरी तरह से वापस करे। साथ ही यह भी कहा कि चीन को कोई भी ऐसा कदम नहीं उठाना चाहिए, जिससे दोनों देश के रिश्ते और बिगड़ें।

शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में हिस्सा लेने के लिए मॉस्को पहुंचे चीनी रक्षा मंत्री जनरल वेई फेंगही ने ही राजनाथ सिंह से मिलने का अनुरोध किया था लेकिन 24 घंटे में कोई सकारात्मक जवाब नहीं मिला। वे इस मुलाकात के लिए इतने उत्सुक थे कि शनिवार की रात उस होटल तक पहुंच गए,

जहां पर राजनाथ सिंह ठहरे थे। इसके बाद जब बातचीत की टेबल पर बैठे तो वे अपनी अकड़ दिखाने से बाज नहीं आए। दरअसल पिछले सप्ताह लद्दाख में रणनीतिक महत्व की चोटियों पर भारत की पकड़ मजबूत बनाने के बाद चीन के सामने बातचीत की टेबल पर आना उसकी मजबूरी बन गई थी। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जब वे राजनाथ के सामने टेबल पर बैठे तो उन्होंने कहा कि वे पिछले 80 दिनों में 3 बार बातचीत का अनुरोध कर चुके हैं।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close