Breaking News

लुटने के लिए पहले बने फर्जी बाबा, फिर दिखाया मौत का डर, जादू-टोने के नाम पर रुपए भी वसूले, और फिर करने लगे गंदे गंदे काम.....

आरोपियों ने बताया कि ठगी की रकम में से सिर्फ 20 हजार रुपए ही उनके पास हैं, बचे हुए रुपए उन्होंने खर्च कर दिए, बकरे को मारकर उसका मीट खा गए। आरोपियों ने धार्मिक अनुष्ठान के नाम पर धातु के दो बड़े-बड़े लोटे भी लिए थे। 

एक परिवार को मौत और सर्वनाश का डर दिखाकर फर्जी बाबा बने दो लोगों ने ठगी कर ली। मामला जशपुर के बगीचा थाना इलाके का है। इस केस में पुलिस ने ठगी करने वाले दो बाबा को पकड़ा है। इनके पास से कथित जादू-टोने से जुड़ी कुछ चीजें भी बरामद हुई हैं। संतोष यादव नाम के व्यक्ति ने इस केस में शिकायत की थी। दरअसल कुछ दिनों पहले संतोष का बेटा एक गड्‌ढे में डूब गया था। इसकी मौत के बाद परिवार गम में था, इसी का फायदा ठगों ने उठाया।


बगीचा इलाके के रहने वाले सुरेन्द्र गिरी , संतोष गोस्वामी संतोष से मिले। वो उसके घर गए और कहा कि तुम्हारा बच्चा मरा है, कुछ दिन बाद तुम लोग भी मरोगे, तुम्हारा पूरा परिवार भी मरेगा। बचना चाहते हो तो बकरे की बली देनी होगी और 60 हजार रुपए की पूजा-पाठ करानी होगी। इससे डरा संतोष इनकी बातों में आ गया। ठगों की मांगी चीजें उन्हें दे दीं। बाद में ठग और 40 हजार रुपए मांगने लगे। पुलिस के पास जब मामला पहुंचा तो ठग भागने की कोशिश में थे, इन्हें रौनी रोड से पकड़ लिया गया।




बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close