Breaking News

भारत में है दुनिया के सबसे अजीबो गरीब गाँव, जिनको देखने के लिए बेताब रहते है लोग, वजह जानकर रह जाओगे दंग

5. मैक्लुस्कीगंज विलेज :-आपकी जानकारी के लिए बता दें झारखंड की राजधानी रांची से लगभग 64 किलोमीटर की दूरी पर एक कस्बा स्थित है जिसका नाम मैक्लुस्कीगंज है। दोस्तों इस हिस्से में कभी बड़ी संख्या में एंग्लो इंडियन भी रहा करते थे 10000 एकड़ की जमीन में फैला हुआ यह गांव बहुत ही ज्यादा खूबसूरत है यहां 300 से ज्यादा खूबसूरत बंगलों का निर्माण करवाया गया था। बता दे यहां की सोसाइटी और कर चल भारत के अन्य राज्यों की तुलना में काफी अलग है झारखंड की सरकार ने इसे टूरिस्ट प्लेस बना दिया है जिसके कारण हजारों की संख्या में लोग यहां घूमने के लिए आते हैं। 

4. कुलधरा विलेज
यह गांव जैसलमेर से लगभग 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आपकी जानकारी के लिए बता दें पालीवाल समुदाय इलाके में लगभग 84 गांव थे और एक ही रात में 84 गांव अचानक खाली हो गए वह भी एक स्त्री के सम्मान के लिए। आपकी जानकारी के लिए बता दें जैसलमेर के दीवान सलाम सिंह की बुरी नजर पाली वाल गांव की बेटी पर पड़ गई थी। उसके बाद वह है। उसके बाद दीवान सलाम सिंह ने लड़की के घर संदेश भिजवाया कि लड़की उन्हें दे दे नहीं तो वह गांव पर आक्रमण कर देगा। उसके बाद 84 गांव के लोगों ने अपनी पंचायत में फैसला किया कि लड़की दीवान सलाम को नहीं दी जाएगी, उसके बाद 84 गांव के लोग एक ही रात में खाली करके चले गए और वह वापस कभी वापस नहीं लौटे। दोस्तों राजस्थान सरकार ने इस गांव को टूरिस्ट प्लेस बना दिया है लेकिन इस गांव में रात को जाने की अनुमति किसी को नहीं है।

3. शनि सिंगनापुर
दोस्तों यह एक ऐसा जगह माना जाता है जहां पर आज भी आपको रामराज्य देखने को मिल जाएगी। वैसे देखा जाए तो आज के बढ़ते दौर में चोरी और लूटपाट जैसी घटनाओं को देखते हुए ज्यादातर लोग अपने घरों में हाई सिक्योरिटी सिस्टम लगवा देते हैं लेकिन दोस्तों भारत का यह एक ऐसा गांव है, जहां पर आपको ताला दूर-दूर तक घरों के दरवाजे में नजर नहीं आएगी। इस गांव के लोगों का मानना है कि चोरी करने पर शनिदेव उन्हें दंड देते हैं, जिसके कारण चोरी डकैती जैसी वारदात इस गांव में नहीं होती है। यहां पर एक शनिदेव की प्रतिमा है जिससे किसी ने नहीं बनाई बल्कि वह स्वयंभू है।

2. मलाणा गांव
दोस्तों यह गांव बहुत ही विचित्र माना जाता है क्योंकि यहां के लोग भारत की किसी भी प्रकार के कानून को नहीं मानते हैं और यहां के लोग अपने आप को श्रेष्ठ और महान राजा सिकंदर का वंशज मानते हैं। भारत का अंग होने के बावजूद भी यहां पर भारत का किसी भी प्रकार का कानून लागू नहीं है। भारत के हिमाचल प्रदेश में पड़ने वाले इस गांव में अगर किसी दुकान, मंदिर या मकान को कोई छू लेता है, तो उसका उसे जुर्माना भी देना पड़ सकता है क्योंकि यहां पर रहने वाले लोग बाहरी लोगों को अपवित्र और अपने आप को हर हाल में पवित्र और श्रेष्ठ मानते हैं। इसके बावजूद भी यहां पर लाखों की संख्या में पर्यटक घूमने के लिए जाते हैं।

1. सलारपुर खालसा
दोस्तों यदि देखा जाए तो वर्तमान समय में ज्यादातर लोग गांव से शहर की ओर पलायन हो रहे हैं क्योंकि शहर काफी ज्यादा विकासशील माना जाता है, जहां पर उन्हें रोजगार के साधन मिल जाते हैं जिसके कारण ज्यादातर गांव में रहने वाले लोग शहर की ओर पलायन करते जा रहे हैं लेकिन दोस्तों भारत का सलारपुर खालसा नामक एक ऐसा गांव है जो हर साल लगभग 100 करोड रुपए से भी ज्यादा की कमाई करता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें यह गांव हर साल टमाटर की सप्लाई करता है। इस गांव के लोगों की आय का मुख्य स्त्रोत टमाटर की खेती है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close