Breaking News

भारतीय सैनिको ने गलवान में बहाया था चीनी सैनिको का खून, पहली बार हुआ खुलासा, भारतीय सेना ने बिछाई थीं लाशें

चीन शुरू से एलएसी विवाद के दौरान मारे गए अपने सैनिकों की संख्या छिपा रहा था। उसने इस बारे में एक बार भी बयान जारी नहीं किया भारत ने दावा किया कि दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई झड़प में चीन के 40 सैनिक मारे गए थे लेकिन चीन ने इसकी सही संख्या कभी नहीं बताई।
China has a huge troops on the border built 100 tents Indian army also  increased troops
तीन महीने बाद चीन ने पहली बार माना कि गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में उसके सैनिकों की भी मौत हुई थी। चीन के अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने इस बात की पुष्टि की। अखबार के एडिटर इन चीफ हू झिजिन ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के एक बयान को ट्वीट कर लिखा कि जहां तक मुझे जानकारी है कि गलवान घाटी में भारत और चीन सेना के बीच हुई झड़प में चीनी सैनिकों के मारे जाने का आंकड़ा भारत के 20 जवानों से कम था।
उन्होने ये भी कबूला कि भारत ने किसी भी चीनी सैनिक को बंदी नहीं बनाया था लेकिन चीन ने भारत के सैनिकों को बंदी बना लिया था। बता दे कि ग्लोबल टाइम्स चीन की सत्ताधारी पार्टी चाइनीज़ कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़ा अखबार है।

गौरतलब है कि इसके पहले गलवान से ऐसी तस्वीरें सामने आई थीं, जिसमें चीनी सैनिकों की कब्र वहां नजर आ रही थीं। चीन ने अपने शहीद सैनिकों के लिए गलवान में मेमोरियल तैयार करवाया है। बताया जा रहा है कि चीन में 30 सैनिकों की भारतीय जवानों से झड़प में मौत हो गई थी।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close