Breaking News

अंधविश्वास की हद्द, सांप ने पति-बेटे को डस कर मार डाला तो पत्नी ने सामने रख दिया सिंदूर और फिर...सांप को ले गए दोनों की चिता पर उसके बाद जो हुआ वो जानकर....

दरियापुर की गौरव कॉलोनी में रहने वाले महेश और उसके बेटे विनीत को रविवार सुबह एक सांप ने काट लिया. लेकिन परिजन उन दोनों को अस्पताल में ले जाने के बजाय उन्हें इलाज के लिए भोपा और तांत्रिक के पास झाड़-फूंक के लिए ले गए. इससे दोनों बाप बेटे की सही इलाज ना मिलने के कारण मौत हो गई.



जानकारी के अनुसार जब परिजन मृतकों के शव को अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट लेकर गए तो कुछ लोगों ने कहा कि चित्तोरा गांव में एक तांत्रिक है जो इन दोनों को जिंदा कर सकता है. उनके अंधविश्वास में आकर परिजनों ने चिता पर रखे गए बाप- बेटे के शव को निकाल लिया. इसके बाद वहां झाड़-फूंक का खेल शुरू हो गया.

ग्रामीणों के कहने पर एक सपेरे ने उस सांप को पकड़ लिया जिसने उन बाप- बेटे को काटा था. अंधविश्वास की ज़द में आकर मृतक की पत्नी श्मशान में पकड़े गए सांप के सामने सिंदूर और सुहाग का सामान रखकर अपने पति और बेटे की जिंदगी वापस मांगने लगी. इस दौरान सांप ने जैसे ही उस सामग्री को सूँघा तो वहां मौजूद ग्रामीणों को लगा कि अब सांप मान गया है और वह उन दोनों बाप- बेटे की जान बख्श देगा.

इसके बाद लोग सांप को पकड़कर चिता पर ले गए. सांप को चिता पर छोड़कर यह उम्मीद करने लगे कि वह दोनों बाप-बेटे का जहर वापस चूस लेगा. लेकिन सांप वहां से जाने लगा. इसके बाद गुस्साए लोगों ने सांप को वहीं मार दिया. इसी बीच पुलिस को मामले की जानकारी लगी तो वह मौके पर पहुंची. लेकिन तमाशबीनों की वहाँ इतनी भीड़ जमा थी कि पुलिस ने कोई कार्रवाई ही नहीं की.

इसके बाद एडिशनल एसपी बचन सिंह मीणा मौके पर पहुंचे और उन्होंने पुलिस कर्मियों को फटकार लगाई.

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close