Breaking News

सीमा पर बड़े तनाव के बीच तिब्बत बॉर्डर के पास शिनजियांग में एयरबेस बना रहा है चीन लेकिन....



चीन अधिक संख्या में एयरबेस का निर्माण कर रहा ताकि वो भारत के खिलाफ अपनी रणनीति में तैयार रहे परन्तु भारतीय सेना की तैयारी चीन से कहीं बेहतर है। बॉर्डर पर तनाव बढ़ने के बाद मई जून के महीने में ही चीन ने तिब्बत और शिनजियांग में चीनी एयर बेस पर हमलावर जेट्स , ड्रोन और अन्य विमानों को जुटाना शुरू कर दिया था।

शिनजियांग में Hotan और Kashgar के साथ साथ लद्दाख की Ngari Gunsa, Lhasa-Gonggar और Shigatse एयरबेस जिनमें से कुछ नागरिक हवाई क्षेत्र हैं उन पर PLA की वायु सेना ने अपने एसेट जुटाना शुरू कर दिया था। चीन का इन एयर बेसों का निर्माण या पुनर्निर्माण का एक ही उद्देश्य है कि जब उनकी सेना भारत की ओर भारी तोपों के साथ बॉर्डर की तरफ बढ़े तब उन्हें जेट्स की मदद से कवर प्रदान किया जा सके।

परंतु भारत पहले से ही चीन की रणनीति का जबाव देने के लिए तैयारी कर चुका है। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार IAF किसी भी जवाब के लिए PLA से कहीं बेहतर स्थिति में है। एक अधिकारी के हवाले से लिखा गया है कि किसी भी आक्रामक के लिए भारतीय वायुसेना की प्रतिक्रिया PLA की वायु सेना की तुलना में अधिक तेज़ है। इसका कारण चीनी एयर बेस जैसे हॉटन, ल्हासा या काशगर LAC से अधिक दूरी पर हैं और साथ में चीन द्वारा तैनात किए गए सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल साइट स्टैंड भी भारतीय लड़ाकू विमानों की हवा से जमीन पर मार करने वाली मिसाइलों से असुरक्षित हैं।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close