Breaking News

दिल्ली दंगा, चार्जशीट में हुआ बड़ा खुलासा, साजिश के लिए चांदबाग में हुई थी सीक्रेट मीटिंग, चक्का जाम कहां-कहां होगा पहले से था तय

फरवरी महीने में दिल्ली को दंगे की आग में झोंकने की प्लानिंग किस तरह से रची गई थी इसको लेकर कुछ चीजें सामने आई हैं. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गैर-कानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून और अन्य धाराओं के तहत जो  दायर की है उसके मुख्य पाइंट्स पता चले हैं.



इनमें पता चला है कि दंगे की साजिश के लिए चांद बांग में एक सीक्रेट मीटिंग रखी गई थी. इसमें शाहदरा, साउथ डिस्ट्रिक्ट, चांद बाग, जफराबाद एरिया को हॉटस्पॉट के तौर पर चिन्हित किया गया था.

22 फरवरी 2020 रात 8.30 बजे जाह्नवी मित्तल ने कुसुम तबरेज वाइफ ऑफ तबरेज को कॉल किया. इसके बाद राहुल रॉय को तीन लंबे कॉल किए गए. राहुल रॉय उस समय गुरुग्राम अपार्टमेंट में थे. जहांगीरपुरी प्रदर्शन के मैन पावर और सक्षमता जानने के बाद राहुल रॉय ने फिर जाह्नवी मित्तल को कॉल किया और तकरीबन 20 मिनट तक बात की और इसी के बाद 23 फरवरी 2020 के लिए स्टेज तैयार किया गया.

16-17 फरवरी 2020 की रात को चांद बाग एरिया में एक मीटिंग हुई थी. इसी रात सजिशकर्ताओं ने फैसला लिया कि प्रदर्शन पूरी दिल्ली में आयोजित की जाएगा. नॉर्थ ईस्ट, शाहदरा, साउथ डिस्ट्रिक्ट, चांद बाग, जफराबाद एरिया को हॉटस्पॉट के तौर पर चिन्हित किया गया.

23 फरवरी 2020 सुबह 8.41 मिनट पर तबरेज ने जाह्नवी मित्तल को कॉल किया और उसे अपने पास उपलब्ध मैन पावर और लॉजिस्टिक्स की जानकारी दी. जाह्नवी ने तबरेज से कहा कि वो शाहीन बाग प्रदर्शन स्थल की तरफ जाएं. फिर 300 महिला प्रदर्शनकारियों को जहांगीरपुरी से शाहीनबाग ले जाया गया. जबकि उन्हें नॉर्थ ईस्ट दिल्ली नहीं ले जाया गया जहां प्रदर्शन होने थे.

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close