Breaking News

भारत के साथ आये ये दो देश, अब मिलकर चीन की कमर तोड़ेगे, रूस का ड्रैगन को बड़ा झटका, लड़ाई में भारत का साथ देने का कर दिया ऐलान

भारत-चीन विवाद के दौरान रूस ने ना सिर्फ खुलकर भारत की मदद की है, बल्कि भारत के दुश्मनों को कोई सहायता प्रदान करने से भी साफ मना किया है. इस वक्त जहां लद्दाख में भारत-चीन के बीच संघर्ष देखने को मिल रहा है, तो ऐसे में रूस और भारत मिलकर मलक्का स्ट्रेट के पास निकोबार द्वीपों में सैन्य अभ्यास कर रहे हैं. 

भारत ने इस वर्ष SCO के तहत रूस में होने वाले कावकाज सैन्य अभ्यास में जाने से इंकार कर दिया था. उसके बाद भारत ने रूस को बंगाल की खाड़ी में सैन्य अभ्यास करने के लिए बुलाया, जिसे भारत के मित्र रूस ने ठुकराया नहीं, और 4 सितंबर को यह सैन्य अभ्यास शुरू भी हो चुका है. इस सैन्य अभ्यास की टाइमिंग और जगह से यह साफ है कि भारत और रूस मिलकर चीन को कड़ा संदेश भेजना चाहते हैं.

भारत-चीन विवाद में पाकिस्तान की भूमिका को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. ऐसे में रूस ने चीन के साथ-साथ पाकिस्तान को भी बड़ा झटका देने का काम किया है. पहले तो रूस ने चीन को एस-400 की सप्लाई देने से साफ मना कर दिया, उसके बाद भी रूस का पेट नहीं भरा तो रूस ने भारत को साफ कर दिया कि वह चीन के साथी पाकिस्तान को एक भी हथियार नहीं बेचेगा. 

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close