Breaking News

कोरोना का कहर, इलाज के अभाव में पत्रकार की मौत, बहन ने कहा-करोड़ों के हॉस्पिटल बनाए लेकिन एम्बुलेंस नहीं दी, फिर जो हुआ वो जानकर रह जाओगे दंग....

बुधवार को उनकी बहन में आरोप लगाया कि उन्हें कार्डियक एम्बुलेंस नहीं मिलने के कारण एक साधारण एम्बुलेंस में अहमदनगर से पुणे लाना पड़ा और इलाज में देरी हुई। उन्होंने यह भी कहा कि जंबो अस्थाई हॉस्पिटल में पत्रकार पांडुरंग रायकर को सही इलाज नहीं मिला, जिसकी वजह से उनकी मृत्यु हुई है।

बहन ने कहा,"यहां अराजकता है, डॉक्टरों को प्रशिक्षित नहीं किया गया है। उन्होंने(सरकार ने) करोड़ों की कीमत वाले केंद्र बनाए. लेकिन मरीजों को हॉस्पिटल तक शिफ्ट करने के लिए कार्डियक एम्बुलेंस की व्यवस्था नहीं की गई, इस कारण पांडुरंग की मृत्यु हो गई।"

मूल रूप से महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के रहने वाले 42 वर्षीय पांडुरंग रायकर, अपने पीछे माता-पिता, पत्नी, पुत्र और पुत्री को इस दुनिया में छोड़ कर चले गए हैं।

उनके निधन के बाद भाजपा नेता भाजपा नेता नीतेश राणे ने महाविकास अघाड़ी सरकार पर निशाना साधते हुए सीएम के इस्तीफे की मांग की है। इस मामले में डिप्टी सीएम अजित पवार ने जांच का आदेश दे दिया है। वहीं पूर्व सीएम देवेन्द्र फडणवीस ने पांडुरंग के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए सीएम उद्धव ठाकरे से इस संबंध में चर्चा करने की बात कही है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने भी इस मामले में कड़ी कार्रवाई की बात कही है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close