Breaking News

अगर आपके घर में भी रहती है पैसो की तंगी तो नाहते समय धीरे से बोल दे ये दो शब्द जीवन में कभी नही होगी पैसो की कमी

तो आपको बता दें कि नहाते समय आपको एक मंत्र बोलना है तो आप सोच रहे होंगे कि भला वो कौन सा मन्त्र है जिसके जप से आप भी माँ लक्ष्मी को खुश कर सकते हैं। हिंदु धर्म में शास्त्रों के अनुसार अलग अलग काम के लिए अलग-अलग मन्त्र निर्धारित किये गए हैं। ऐसे में नहाते समय भी हमे कुछ मंत्रो का उच्चारण करना चाहिए। वहीं बताया गया है कि नहाते समय एक इन्सान किसी स्रोत का पाठ भी कर सकता है वो चाहे तो कीर्तन या भजन या भगवान का नाम भी जप सकता है। अब आप सोचेंगें कि इसका फल क्या है?

तो हम आपको बता दें कि इस छोटे से नुस्खे से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। शास्त्रों में समय अनुसार स्नान के अलग-अलग प्रकार बताए गए हैं। साथ ही, नहाने की एक विशेष विधि भी बताई गई है। यदि आप इस विधि से सही समय पर नहाएंगे तो कई शुभ फल प्राप्त होते हैं। सही तरीके से करने से सकरात्मक फल मिलते हैं। ध्‍यान रहे कि विधी के अनुसार ही चीजें होनी चाहिए।

सबसे पहले तो रोज़ नहाने से पहले पानी की बाल्टी भर लें और फिर उसमें अपनी तर्जनी उंगली की मदद से पानी पर 'त्रिभुज' का चिन्ह बनाएं। इसके बाद त्रिभुज बनाने के बाद एक अक्षर का बीज मंत्र 'ह्रीं' उसी चिह्न के बीच वाले स्थान पर लिखें। इसका फल ये मिलेगा कि इस छोटे उपाय से इष्ट देवी-देवता आपकी सारी परेशानियों दूर कर सकते हैं। और अब जानते हैं कि आखिर वो कौन सा मंत्र है जिसका नहाते समय जाप करना चाहिए। "गंगे च यमुने चैव गोदावरि सरस्वति। नर्मदे सिन्धु कावेरि जलऽस्मिन्सन्निधिं कुरु।।"

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close