Breaking News

पढाई का प्रेशर, नीट की परीक्षा से पहले तीन छात्रों ने दी जान, एक छात्रा कोविड के कारण कोचिंग नहीं कर पाने से थी परेशान

तमिलनाडु के मदुरई में एक 19 वर्षीया लड़की ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इसके अलावा धर्मपुरी जिले में एक लड़के और नमक्कल में एक लड़के ने जान दे दी। इन दोनों की उम्र 19 से 21 साल के बीच थी।



मुदरई की घटना की जांच कर रहे एक पुलिस अधिकारी ने कहा है कि एम जोथिश्री दुर्गा की नीट की परीक्षा का यह दूसरा चांस था, वह इसके लिए कोचिंग करने का प्रयास कर रही थी, लेकिन ऐसा कर नहीं सकी। दुर्गा ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि वह अपनी परीक्षा को लेकर चिंतित थी और अगर उसे मेडिकल प्रवेश परीक्षा में सफलता नहीं मिलेगी तो वह अपने माता-पिता व परिवार के अन्य सदस्यों को निराश करेगी।

इसी तरह धर्मपुरी जिले का एम आदित्य भी परीक्षा को लेकर चिंतित था। वह एक बार पहले परीक्षा में शामिल हो चुका था। वहीं, नमक्कल जिले के तिरुचेंगोडा का 21 वर्षीय मोतीलाल भी नीट की परीक्षा को लेकर चिंतित था। वह दो बार पहले परीक्षा में शामिल हो चुका था।

इस तीन मामलों से पहले इस सप्ताह के आरंभ में अरियालुर के एक 19 वर्षीय लड़ने के अपनी जान दे दी थी। इस साल उसका परीक्षा का तीसरा प्रयास था, लेकिन इससे पहले उसने निराशा में गलत कदम उठा लिया।

तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी विजयभास्कर ने पिछले महीने केंद्र सरकार को पत्र लिख कर नीट की परीक्षा रद्द करने की मांग की थी और इसके लिए कोविड19 संकट को कारण बताया था। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की थी कि 12वीं में प्राप्त अंकों के आधार पर मेडिकल काॅलेज में छात्रों को इस साल प्रवेश दिया जाए।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close