Breaking News

लेह में इन्फैंट्री के काॅम्बेट व्हीकल को ट्राले पर लोड करते समय हुए हादसे में हुए शहीद, शहीद मेजर दीक्षांत थापा को नम आंखों से दी अंतिम विदाई

लेह के कीरू में शहीद हुए मेजर दीक्षांत थापा की पार्थिव देह मंगलवार सुबह उनके पैतृक गांव पहुंची। माता-पिता जवान बेटे की पार्थिव देह आंगन में देखकर बेसुध हो गए। दोनों रो-रोकर बेहाल हो गए, परिवार के अन्‍य सदस्‍यों ने उन्‍हें सांत्‍वना दी। 

शहीद की मां ने बहादुर बेटे को सैल्‍यूट कर अंतिम विदाई दी। यहां पूरे सैन्‍य सम्‍मान के साथ उनका अंतिम संस्‍कार किया गया। शहीद मेजर दीक्षांत थापा कांगड़ा जिला के इंदौरा उपमंडल के बाड़ी कंदरोड़ी के रहने वाले थे।

सैन्य सूत्रों के अनुसार लद्दाख में लेह के कीरू इलाके में इन्फैंट्री के काॅम्बेट व्हीकल (बीपीएम) को ट्राले पर लोड करते समय हुए हादसे में वे शहीद हुए थे।

वे सेना की मेकैनिकल इन्फेंट्री में थे। सेना द्वारा एक ट्राले पर बीएमपी को लोड कर रहे थे। अचानक एक अन्य ट्रक ट्राले से जा टकराया,बीएमपी ट्राला सीधा उन पर आ गिरा। यह हादसा लेह के कारू-कियारी के करीब हुआ,जो लेह से करीब 45 किलोमीटर दूर है।

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close