Breaking News

पहले घर तोड़ो और फिर जबाब ना दो, BMC को बॉम्बे हाईकोर्ट की फटकार, कहा-जवाब देने में क्यों हो रही देर



हाईकोर्ट ने बीएमसी से कहा ​है कि मानसून में आप टूटी इमारत को इस तरह से नहीं छोड़ सकते हैं. कोर्ट ने बीएमसी से कहा कि जब बंगला तोड़ने की बात आई थी तो आपने बहुत तेजी दिखाई थी लेकिन जब जवाब देने की बात आई तो आप लोग इतना सुस्त क्यों पड़ गए?

सुनवाई के दौरान बीएमसी के वकील ने कहा कि उन्हें इस मामले में जवाब देने के लिए अभी दो दिन का और समय चाहिए. इस पर जस्टिस कठावला नाराज हो गए और उन्होंने कहा कि किसी का घर तोड़ दिया गया है और हम उस ढांचे को बरसात के मौसम में इस तरह से नहीं रहने दे सकते हैं.

कोर्ट ने कहा वैसे तो आप लोग बहुत तेज हैं लेकिन जब आप पर आरोप लगते हैं और आप लोगों से जवाब मांगा जाता है तो आप लोग पांच खींचने लगते हैं. कोर्ट ने कल दोपहर 3 बजे तक का समय दिया.

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close